S M L

Sterlite protest LIVE updates: सीएम पलानीसामी ने कहा, अगर कोई मारेगा तो आपको अपना बचाव करना ही होगा

हिंसा में शामिल अब तक 67 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं शहर में अगले पांच दिनों के लिए इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई है

FP Staff | May 24, 2018, 03:34 PM IST

0

हाइलाइट

May 24, 2018

  • 16:19(IST)

    सरकार के मॉनिटरिंग ऑफिसर गगनदीप सिंह बेदी ने कहा कि वेदांत के स्टरलाइट प्लांट को बिजली की सप्लाई रोक दी गई है. 

  • 15:47(IST)
  • 15:33(IST)

    तमिलनाडु के सीएम पलानीसामी ने कहा ट्वीट करके तूतीकोरिन में हुई गोलीबारी को सही ठहराया है. उन्होंने लिखा है कि अगर कोई आपको मारता है तो निश्चित है कि आपको खुद को बचाने की कोशिश करेंगे. इस तरह के हालात में कोई भी प्री-प्लान तरीके से काम नहीं करता है.  

  • 13:41(IST)

    हिरासत में लिए जाने के बाद एमके स्टालिन ने कहा, 'मैं गिरफ्तार होने से डरता नहीं हूं. मुझे पता था यह सब होने वाला है. वो लोग पहले ही 13 लोगों को मार चुके हैं. वे चाहें तो मुझे भी मार सकते हैं. डीएमके और कांग्रेस तूतीकोरिन के लिए लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे हैं, वहां स्थिति बेहद भयावह है. कलेक्टर ने नाम के लिए कुछ बदलाव किए हैं लेकिन पुलिस के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया है. मुख्यमंत्री ने अब तक पीड़ितों से मुलाकात नहीं की है इसी से पता चलता है कि यह सरकार कितनी भयावह है. हमने एमजीआर, अन्ना, कामराज और कलाइंगर की सरकारें देखी हैं. जब वे सत्ता में थे ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री कम से कम एक्शन तो लेते थे.'

  • 13:36(IST)
  • 13:30(IST)

    मीडिया को संबोधित करते हुए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने कहा कि तूतीकोरिन में लंबे समय से प्रदर्शन चल रहा है लेकिन हिंसा कभी नहीं हुई. उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दलों ने तूतीकोरिन में हिंसा भड़काई है. उन्होंने कहा कि एमके स्टालिन ने उनसे मिलने के लिए कोई अपॉइंटमेंट नहीं मांगा था और उनके ऑफिस के बाहर डीएमके लीडर का हंगामा महज एक राजनीतिक ड्रामा था.

  • 13:25(IST)

    उधर केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा तूतीकोरिन में लोगों की मृत्यु को  लेकर मैं बहुत दुखी हूं. पीएम मोदी भी मामले को लेकर चिंतित हैं. हालात ध्यान में रखते हुए गृह मंत्रालय ने इस मामले में राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है.  

  • 13:20(IST)

    सीएम ईके पलानीसामी ने तूतूकुड़ी में प्रदर्शनकारियों पर हुई फायरिंग को उचित ठहराया है. मामले पर सफाई देते हुए पलानीसामी ने कहा अगर किसी पर हमला किया जाता है तो वो खुद के बचाव में कोई न कोई कदम उठाता है. यही कदम पुलिस ने मंगलवार को उठाया. 

  • 13:17(IST)

    हंगामें के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानीसामी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में जो कुछ भी हुआ वो केवल इसलिए हुआ क्योंकि कुछ पार्टी, एनजीओ औऱ असमाजिक तत्व प्रदर्शनकारियों को गलत रास्ते पर ले गए.

  • 13:06(IST)

    जानकारी के मुताबिक तूतूकुड़ी के जनरल अस्पताल में भर्ती हिंसा प्रभावितों से मिलने जा सकते हैं कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी. स्टरलाइट प्लांट के खिलाफ मंगलवार को हुए हिंसक प्रदर्शन में 13 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि 70 लोग घायल बताए जा रहे हैं. 

  • 12:58(IST)

    तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानी स्वामी के ऑफिस के बाहर गुरुवार को हुए तमाशे के बाद डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन को सीएम ऑफिस परिसर से बलपूर्वक बाहर निकाला गया. वह अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ सीएम से मिलने पहुंचे थे लेकिन इसकी अनुमति नहीं मिलने पर वह सीएम ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए थे

  • 12:47(IST)

    तमिलनाडु के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर संदीप नंदुरी ने कहा कि स्थिति को नॉर्मल करना मेरी पहली प्राथमिकता है. जहां तक जांच की बात है तो वो सरकार द्वारा नियुक्त जज करेंगे

  • 12:41(IST)

     तमिलनाडु सचिवालय के बाहर स्टालिन को हिरासत में लेने के बाद डीएमके कार्यकर्ता और पुलिस के बीच झड़प हुई. एमके स्टालिन डीएमके नेताओं के साथ सीएम के इस्तीफे की मांग करते हुए सचिवालय के बाहर धरने पर बैठे थे.

  • 12:40(IST)

    तमिलनाडु सचिवालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. मंगलवार को तूतूकुड़ी में हुए हिंसक प्रदर्शन में 13 लोगों की मौत के बाद एम के स्टॉलिन अपनी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ यहां धरने पर बैठे थे.

Sterlite protest LIVE updates: सीएम पलानीसामी ने कहा, अगर कोई मारेगा तो आपको अपना बचाव करना ही होगा

Update 3: उधर पुलिस फायरिंग में हुई 13 लोगों की हत्या के खिलाफ एम के स्टालिन अन्य पार्टी नेताओं के साथ तमिलनाडु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठ गए हैं.

Update 2: इस मामले में तमिलनाडु के एडवोकेट ने दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है. इस याचिका में अपील की गई है कि एनएचआरसी पुलिस या मुख्यसचिव से रिपोर्ट मांगने की बजाय खुद तूतूकुड़ी जाए और अलग से जांच करवाए. कोर्ट शक्रवार को इस याचिका पर सुनवाई कर सकता है

Update 1: डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने कहा कि 12 मासूम लोगों की मौत के बावजूद कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है. सीएम तूतूकुड़ी जाकर लोगों से मिले भी नहीं. इसलिए हमारी डिमांड है कि सीएम को अपने पद से इस्तीफा दें

तमिलनाडु के तूतीकोरीन में मंगलवार को हुए हिंसक प्रदर्शन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है. जबकि 70 से ज्यादा लोग घायल हैं. गंभीर हालात को देखते हुए शहर में जगह-जगह सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक हिंसा में शामिल होने के आरोप में अब तक 67 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं शहर में अगले पांच दिनों के लिए इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई है. ये सेवा बुधवार रात 9 बजे से बंद की गई है.

उधर पुलिस फायरिंग में मारे गए 13 लोगों की मौत के खिलाफ डीएमके ने 25 मई को तमिलनाडु बंद बुलाया है. साथ ही पार्टी ने मांग की है स्टरलाइट प्लांट को हमेशा के लिए बंद कर दिया जाए. बता दें इससे पहले बुधवार को मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने स्टरलाइट प्लांट में तांबा गलाने की नई यूनिट के निर्माण पर रोक लगा दी थी.

डीएमके के बाद अब कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी इस हिंसक प्रदर्शन की तुलना जलियांवाला बाग से की है. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 'राज्य सरकार को पता था कि ये प्रदर्शन का 100वां दिन है. इसमें जरूर कुछ बड़ा होगा. उन्हें कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ इंतजाम करके रखने चाहिए थे. लेकिन उन्होंने गोलीबारी का सहारा लिया. ये जलियां वाला बाग की तरह नरसंहार था.' इससे पहले डीएमके के एक नेता ने भी इस गोलीबारी की तुलना जलियांवाला बाग से की है. और सभी दलों से इस घटना के खिलाफ 25 मई को विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया था.

उधर तमिलनाडु प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर को स्टरलाइंट प्लांट की पावर सप्लाई बंद करने के निर्देश दिए हैं. टीएनपीसीबी ने अपने आदेश में कहा कि निरीक्षण में यह पाया गया कि प्लांट की यह यूनिट अपना प्रोडक्शन ऑपरेशन दोबारा शुरू करने की दिशा में काम कर रही थी.

बता दें तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर कंपनी का स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं. स्थानीय लोगों और पर्यावरणीय अधिकारों की रक्षा करने वाले समूहों का कहना है कि इस प्लांट की वजह से ग्राउंड वॉटर और वायु प्रदूषित हो रहा है. ये कंपनी कॉपर का खनन करती है. प्लांट की यूनिट में एक स्मेल्टर, एक रिफायनरी, एक फास्फोरस एसिड प्लांट, एक कॉपर रॉड प्लांट और तीन कैप्टिव पावर प्लांट शामिल हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi