विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

बिहार: आधी रात से ट्रकों के अनिश्चितकालीन थम जाएंगे पहिए

खनिज नियमावली और पथ परिवहन व सुरक्षा विधेयक के विरोध में राज्य भर के ट्रांसपोर्टरों ने ट्रकों का चक्का जाम करने की धमकी दी है

Bhasha Updated On: Nov 15, 2017 05:51 PM IST

0
बिहार: आधी रात से ट्रकों के अनिश्चितकालीन थम जाएंगे पहिए

बिहार राज्य मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन (बीएमएसटीएफ) ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बुधवार आधी रात से हड़ताल पर जाने की धमकी दी है.

बीएमएसटीएफ के अध्यक्ष उदय शंकर प्रसाद सिंह ने राज्य के लगभग 1.3 लाख ट्रकों के आधी रात से परिचालन नहीं करने का दावा करते हुए कहा कि 15 दिन पहले अपनी मांगों को लेकर उन्होंने सरकार को अपना एक ज्ञापन सौंपा था. इस पर अब तक कोई पहल नहीं होने से वो लोग हड़ताल पर जाने को मजबूर हो गए हैं.

उन्होंने कहा कि हम बिहार के खनिज अधिनियम में संशोधन चाहते हैं जिसके तहत खनिज की ढुलाई करने वाले ट्रकों में जीपीएस और र्इ-लाकिंग लगाया जाना जरूरी करार दिया गया है. सिंह ने कहा कि उन लोगों का अनुरोध है कि ट्रक ऑपरेटरों द्वारा इसे ओपन मार्केट से लगाए जाने के लिए तैयार होने को देखते हुए इसपर छूट दी जाए.

उन्होंने कहा कि बालू की ढुलाई करने वाले ट्रकों का भाड़ा बढ़ाए जाने की मांग की है क्योंकि सभी ट्रक ऑपरेटर भारी घाटा का सामना कर रहे हैं.

बीएमएसटीएफ के अध्यक्ष ने कहा कि हमने परमिट शुल्क में हाल में की गई बढ़ोतरी और फिटनेस टेस्ट में मापदंड पर खरा नहीं उतरने पर वाहन पर प्रतिदिन 50 रुपए जुर्माना लगाए जाने को वापस लिए जाने की भी मांग की है.

उदय शंकर प्रसाद सिंह ने अपनी इस हड़ताल को अखिल भारती मोटर वाहन संघ का समर्थन हासिल होने का दावा किया है. उन्होंने कहा कि हमें अन्य राज्यों के भी मोटर वाहन संघ से भी आश्वासन मिला है कि वो तब तक अपना वाहन बिहार से होकर नहीं चलाएंगे जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं की जाती.

इस बीच, राज्य के परिवहन विभाग के संयुक्त सचिव अनुपम कुमार ने समस्या का हल निकाले की दिशा में प्रयास किए जाने की बात की और कहा कि इसके लिए बुधवार शाम को एक बैठक बुलाई गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi