S M L

सरकार के साथ बातचीत में नहीं निकला समाधान, ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल शुरू

डीजल की कीमतों और टोल फीस में कमी की मांग को लेकर ट्रक और बस ऑपरेटर्स संगठन आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) के नेतृत्व में ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर हैं

Updated On: Jul 20, 2018 03:57 PM IST

FP Staff

0
सरकार के साथ बातचीत में नहीं निकला समाधान, ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल शुरू

सरकार के साथ गुरुवार को देर रात तक चली ट्रांसपोर्टरों की बातचीत के बावजूद कोई समाधान ना निकलने के बाद ट्रक ऑपरेटर आज यानी शुक्रवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. डीजल की कीमतों और टोल फीस में कमी की मांग को लेकर ट्रक और बस ऑपरेटर्स संगठन ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) के नेतृत्व में ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर हैं.

हालांकि, अब तक हड़ताल का ज्यादा असर देखने को नहीं मिला है. खबरों के मुताबिक  कुछ जगहों को छोड़कर बाकी स्थानों पर हड़ताल का ज्यादा असर नहीं दिखाई दिया क्योंकि ट्रांसपोर्टरों को इस मामले में जल्द ही कुछ समाधान निकलने की उम्मीद है.

एआईएमटीसी के महासचिव नवीन गुप्ता ने पीटीआई भाषा से कहा कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल के साथ गुरुवार रात 1 बजकर 30 मिनट तक चर्चा जारी रही, लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकलने के कारण आज सुबह हड़ताल पर जाने का फैसला किया गया.

गुप्ता ने कहा कि संगठन को आज संबंधित मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की उम्मीद है. इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने तीन महीने का समय मांगा था.हम आज कुछ ठोस समाधान निकलने की उम्मीद कर रहे हैं.

ट्रांसपोर्टरों की मांग है कि डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए.वहीं एआईएमटीसी का कहना है कि वे 'दोषपूर्ण और गैर-पारदर्शी' टोल संग्रह प्रणाली के भी खिलाफ हैं क्योंकि इस वजह से र्इंधन और समय के नुकसान से सालाना 1.5 लाख करोड़ रुपये की चपत लगती है.

इसके अतिरिक्त उन्होंने अधिक बीमा प्रीमियम और थर्ड पार्टी बीमा प्रीमियम पर जीएसटी से छूट देने की भी मांग की है.

(साभार:न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi