S M L

2 दिनों के भारत बंद पर ममता भड़की, कहा- बहुत हुआ, बंगाल में कोई बंद नहीं होगा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया कि ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाई गई हड़ताल का राज्य में कोई असर नहीं होगा

Updated On: Jan 08, 2019 09:46 AM IST

FP Staff

0
2 दिनों के भारत बंद पर ममता भड़की, कहा- बहुत हुआ, बंगाल में कोई बंद नहीं होगा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया कि ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाई गई हड़ताल का राज्य में कोई असर नहीं होगा. केंद्र सरकार की ‘जन-विरोधी’ नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए मंगलवार से 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने 48 घंटे के राष्ट्रव्यापी बंद का आह्वान किया है.

सीएम ममता बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा, 'मैं इस पर एक शब्द भी नहीं बोलना चाहती हूं. हमने किसी भी बंद को समर्थन नहीं देने का फैसला किया है. अब बहुत हो गया. पिछले 34 वर्षों में वाम मोर्चे ने बंद का आह्वान कर पूरे राज्य को बर्बाद कर दिया. अब कोई बंद नहीं होगा.' राज्य सरकार ने घोषणा की है कि वह मंगलवार और बुधवार को अपने कर्मचारियों के आधे दिन की छुट्टी या आकस्मिक अवकाश लेने पर रोक लगाएगी.

आपको बता दें कि सेंट्रल ट्रेड यूनियंस मंगलवार से दो दिनों की देशव्यापी हड़ताल पर हैं. केंद्रीय संयुक्त संघों ने एक संयुक्त बयान में कहा है कि इस हड़ताल में करीब 20 करोड़ कर्मचारी हिस्सा लेंगे. न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) की महासचिव अमरजीत कौर ने सोमवार को कहा, बीजेपी सरकार की जनविरोधी और श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ इस हड़ताल में सबसे ज्यादा संख्या में संगठित और असंगठित क्षेत्र के कर्मचारी शामिल होंगे. पश्चिम बंगाल में सेंट्रल ट्रेड यूनियन के समर्थन में विरोध कर रहे CPM कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया गया है.

उन्होंने कहा कि दूरसंचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, कोयला, इस्पात, बिजली, बैंकिंग, बीमा और परिवहन क्षेत्र के लोगों के इस हड़ताल में शामिल होने की उम्मीद है. कौर ने कहा, ‘हम बुधवार को नई दिल्ली में मंडी हाउस से संसद भवन तक विरोध जुलूस निकालेंगे. इसी तरह के अन्य अभियान देशभर में चलाए जाएंगे.’ इस हड़ताल में इंटक, एटक, एचएमएस, सीटू, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, सेवा, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ और यूटीयूसी जैसे संगठन शामिल हो रहे हैं.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi