S M L

मैली यमुना में फेरी का मजा देने की तैयारी में सरकार

यह राइड करीब 30 से 40 मिनट की होगी. इसके लिए National cadet Corps से नाव ली जाएंगी. इसमें डीजल और बिजली से चलने वाली नाव शामिल होंगी

FP Staff Updated On: May 30, 2018 03:57 PM IST

0
मैली यमुना में फेरी का मजा देने की तैयारी में सरकार

दिल्ली की यमुना की क्या हालत है यह बात कम से कम दिल्लीवालों से नहीं छिपी हुई है. यमुना को लेकर अभी तक सरकार की योजना उसे साफ करने की थी लेकिन अब सरकार नए सपने दिखा रही है.

सरकार यमुना में फेरी की सवारी शुरू करने वाली है. यानी अगर आपको हैंगआउट करना है तो बाकी जगहों के अलावा यमुना में फेरी की सवारी भी एक बेहतर ऑप्शन होगा. अभी तक आई खबरे के मुताबिक यमुना में यह सर्विस इसी साल मॉनसून खत्म होने के बाद शुरू होगी.

शुरुआत में यह सफर सिर्फ कुछ किलोमीटर का ही होगा. यह सफर गाजियाबाद में ट्रोनिका सिटी से लेकर दिल्ली में सोनिया विहार तक होगा. इसका मुख्य उद्देश्य पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करना है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, Inland Waterways Authority of India (IWAI) ने वाटर टैक्सी प्रोजेक्ट के लिए 7.55 करोड़ रुपए को भी मंजूरी दे दी है. इसमें यात्रियों को बोर्डिंग पॉइंट तक पहुंचाने के लिए तीन फ़्लोटिंग जेटीज़ और सहायक सुविधाएं होंगी. इस पर IWAI ने नितिन गडकरी को कहा था कि एनजीटी के ऑर्डर के अनुसार जेटीज के लिए कोई निर्माण नहीं किया जाएगा.

यह राइड करीब 30 से 40 मिनट की होगी. इसके लिए National cadet Corps से नाव ली जाएंगी. इसमें डीजल और बिजली से चलने वाली नाव शामिल होंगी. IWAI अधिकारी के मुताबिक, इस रूट के लिए पर्यायवरण की जांच की जा रही है, यह अगले महीने पूरी हो जाएगी.

2015 में शिपिंग मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया था कि पल्ला से वजीराबाद के बीच का रास्ता इसके लिए उचित है जबकि वजीराबाद से ओखला इसके लिए अनुचित है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi