S M L

नक्सली हमला: 10 सालों में गई 2245 लोगों की जान

सुकमा में सीआरपीएफ और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में 26 जवान शहीद हो गए हैं

Updated On: Apr 24, 2017 10:40 PM IST

Bhasha

0
नक्सली हमला: 10 सालों में गई  2245 लोगों की जान

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने एक बार फिर सुरक्षाबलों को निशाना बनाया है. सुकमा में सीआरपीएफ और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में 26 जवान शहीद हो गए हैं.

हमले में कई जवान घायल हैं, जिनकी हालत नाजुक बनी हुई है. 2017 में सीआरपीएफ जवानों पर नक्सलियों का ये दूसरा बड़ा हमला है. इससे पहले 11 मार्च को सुकमा में ही सीआरपीएफ की 219 बटालियन पर हुए हमले में 12 जवान शहीद हो गए थे.

ये भी पढ़े- सुकमा में धरती 'लाल': नक्सली हमले में 26 CRPF जवान शहीद

2017 में जनवरी महीने से 22 मार्च तक नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच 10 बार मुठभेड़ हो चुकी है, जिसमें 24 जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी.

2016 में 41 जवान हुए शहीद

2016 में नक्सली और सुरक्षा बलों की मुठभेड़ में 41 जवान शहीद हुए जिसमें 30 मार्च को दंतेवाड़ा में सीआरपीएफ के सबसे ज्यादा 7 जवान शहीद हुए थे.

पिछले 10 सालों में हुई इतनी मौतें

पिछले 10 सालों में छत्तीसगढ़ लाल आतंक का पनाहगाह बन गया है. साल 2005 से अप्रैल 2015 तक राज्य में 2245 लोगों की जान जा चुकी है, जिनमें 859 सुरक्षाकर्मी 677 आम नागरिक और 709 नक्सली शामिल हैं. नक्सलियों ने अधिकांश हमले अप्रैल से जून के बीच में किए हैं.

एक नजर 2005 से अप्रैल, 2015 तक माओवादी संघर्ष में मरे लोगों के आंकड़ों पर. मरने वालों में सुरक्षाबल, नक्सली और आम लोग शामिल हैं—

2005 - 124

2006 - 361

2007 - 350

2008 - 168

2009 - 345

2010 - 327

2011 - 176

2012 - 108

2013 - 128

2014 - 113

अप्रैल 2015 - 38

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi