S M L

बेंगलुरु में स्वाइन फ्लू के 177 मामले, जयपुर में जीका तो हैदराबाद में वायरल, इन बीमारियों की ये है असली वजह

प्रशासन भले ही दावा कर रहा हो कि मामले पिछली बार से कम हैं लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्वाइन फ्लू के चलते कर्नाटक में अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है

Updated On: Oct 14, 2018 02:38 PM IST

FP Staff

0
बेंगलुरु में स्वाइन फ्लू के 177 मामले, जयपुर में जीका तो हैदराबाद में वायरल, इन बीमारियों की ये है असली वजह

देश के कई इलाकों में इस समय तेजी से बदलते मौसम की वजह से लोग कई तरह की बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं. तापमान में अचानक आए बदलाव के चलते अस्पतालों में रोगियों की संख्या बढ़ रही है. आइए आपको बताते हैं कौन से इलाके में किस रोग ने फैलाए हैं अपने पंख और क्या है इनके पीछे की असली वजह.

कर्नाटक में स्वाइन फ्लू

स्वाइन फ्लू तेजी से फैल रहा है. कर्नाटक में भी अभी तक स्वाइन फ्लू के कई मामले सामने आ चुके हैं. इनमें बेंगलुरु में एच1एन1 (H1N1) वायरस की चपेट में अब तक 177 लोग आ चुके हैं. प्रशासन भले ही दावा कर रहा हो कि मामले पिछली बार से कम हैं लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्वाइन फ्लू के चलते कर्नाटक में अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है. बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के आयुक्त मंजूनाथ प्रसाद ने कहा, 'अब तक हम 177 मामलों की जांच कर चुके हैं. इनमें से 37 बेंगलुरु से बाहर के हैं. इनकी नियमित रूप से निगरानी की जा रही है और उपयुक्त ऐक्शन भी लिया जा रहा है.' उन्होंने आगे कहा कि हालांकि पिछले वर्षों की अपेक्षा इस बार केस काफी कम आए हैं, इसलिए ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है. शुरुआती रिपोर्ट में कहा गया था कि 400 से ज्यादा लोग अब तक पूरे कर्नाटक में स्वाइन फ्लू की चपेट में आ चुके हैं. हालांकि अभी तक स्वास्थ्य विभाग की तरफ से इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार स्वाइन फ्लू के ज्यादातर मामले निजी अस्पतालों में रिपोर्ट हुए हैं. बेंगलुरु शहरी जिला निगरानी अधिकारी डॉ. सुनंदा ने बताया कि स्वाइन फ्लू के मरीजों की पहचान के लिए अब तक 3 हजार घरों का सर्वेक्षण किया गया है.

जयपुर में जीका वायरस

वहीं राजस्थान के जयपुर में खतरनाक जीका वायरस के शनिवार को 8 नए मामले सामने आने के बाद इससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या 50 के पार पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि इनमें से 38 लोग पहले से बेहतर हैं. राहत की बात यह है कि जीका के मामले अब जयपुर के शास्त्री नगर तक सीमित रह गए हैं. अब स्वास्थ्य विभाग और जयपुर नगरपालिका ने रविवार से घर-घर जाकर चेकिंग करने का फैसला किया है. अगर किसी घर में वायरस का लार्वा मिला तो परिवार पर जुर्माना लगाया जाएगा. कैंपेगौड़ा हवाई अड्डे (केआइए) सहित प्रदेश के अन्य हवाई अड्डों पर पहुंचने वाले विदेशी सैलानियों को अच्छी तरह से जांचा जा रहा है. प्रदेश के सभी हवाई अड्डों पर जीका को लेकर सतर्कता बढ़ाई गई है.

हैदराबाद में वायरल फीवर

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 2 महीने में हैदराबाद के अस्पतालों में वायरल फीवर, डेंगू, चिकनगुनिया और इनफ्लूएंजा जैसी बीमारियों से जूझ रहे कई लोग इलाज के लिए भर्ती हुए हैं. डॉक्टरों की मानें तो तापमान में अचानक बदलाव इसकी बड़ी वजह है. इसके अलावा 20 फीसदी मरीज वायरल फीवर के हैं. डॉक्टरों से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले महीने डेंगू के 20 मामले हैदराबाद के अस्पतालों में पहुंचे थे जबकि इस महीने इनकी संख्या 10 है. वहीं 20 से 30 मलेरिया के मामले भी दर्ज किए गए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi