S M L

'मन की बात' का आज 50वां संस्करण, देशवासियों से PM करेंगे खास बातचीत

साल 2014 से शुरू हुए इस कार्यक्रम में पीएम मोदी न सिर्फ अपने मन की बात देश के सामने रखते हैं बल्कि आम लोगों से कई तरह के सुझाव और विचार भी मांगते हैं

Updated On: Nov 25, 2018 09:56 AM IST

FP Staff

0
'मन की बात' का आज 50वां संस्करण, देशवासियों से PM करेंगे खास बातचीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी रविवार सुबह 11 बजे रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 50वें संस्करण को संबोधित करेंगे. साल 2014 से शुरू हुए इस कार्यक्रम में पीएम मोदी न सिर्फ अपने मन की बात देश के सामने रखते हैं बल्कि आम लोगों से कई तरह के सुझाव और विचार भी मांगते हैं. उन सभी विचारों और सुझावों को कार्यक्रम में भी शामिल किया जाता है.

खुद पीएम नरेंद्र मोदी का मानना है कि 2014 से शुरू हुए इस कार्यक्रम से कई उपलब्धियां हांसिल हुई हैं. नरेंद्र मोदी ने 2014 में प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद उसी साल अक्टूबर महीने से इस कार्यक्रम की शुरुआत की थी. इसके तहत पीएम मोदी हर महीने के अंतिम रविवार को अपनी जनता से रेडियो के जरिए संवाद करते हैं जिसे उन्होंने 'मन की बात' नाम दिया है.

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही कार्यक्रम से जुड़े विभिन्न पहलुओं, लोगों की सहभागिता, विभिन्न विषयों एवं कार्यक्रमों के बारे में लोगों की राय जानने के लिए 'मन की बात' सर्वे कराया गया था. प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा था कि मन की बात के 50 एपिसोड पूरे हो रहे हैं. मैं आपसे आग्रह करता हूं कि इस कार्यक्रम के बारे में हो रहे सर्वेक्षण में हिस्सा लें. आपके विचार हमारे लिए बहुत उपयोगी होंगे.

मन की बात कार्यक्रम की बड़ी उपलब्धियां-

खादी वस्त्रों के इस्तेमाल पर जोर-

साल 2014 में पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान खादी वस्त्रों के इस्तेमाल पर कापी जोर दिया था जिसके बाद महीने भर में खादी की बिक्री में 125 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.

वीर सैनिकों को शौर्यांजलि देने की अपील-

साल 2015 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के 40 साल पूरे होने पर देश के वीर सैनिकों को शौर्यांजलि देने की अपील भी बहुत लोकप्रिय हुई थी.

सेल्फी विद डॉटर-

बेटी बचाओं आंदोलन के तहत पीएम मोदी ने 'सेल्फी विद डॉटर' अभियान चलाने का आह्वान किया था जो काफी वायरल हो गया था.

एल्पीजी सब्सिडी छोड़ें-

इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी द्वारा सब्सिडी छोड़ने की अपील भी कारगर रही थी.

एग्जाम वॉरियर-

परीक्षा से पहले तनाव कम करने का पीएम का फॉमूला बच्चों और पैरंट्स के बीच बहुत सराहा गया था. बाद में पीएम ने इसी पर आधारित एग्जाम वॉरियर नाम की किताब भी निकाली थी.

पॉलिसी बनाने में रोल-

स्वच्छता, सड़क सुरक्षा और ड्रग्स से लड़ने की दिशा में नई नीति को सामने लाने में भी 'मन की बात' कार्यक्रम का अहम योगदान रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi