S M L

असम पहुंचा तृणमूल नेताओं का दल, सिलचर एयरपोर्ट पर पुलिस ने हिरासत में लिया

डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, हमारे दल को सिलचर एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया. लोगों से मिलना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है. यहां आपातकाल जैसे हालात हैं

Updated On: Aug 02, 2018 03:51 PM IST

FP Staff

0
असम पहुंचा तृणमूल नेताओं का दल, सिलचर एयरपोर्ट पर पुलिस ने हिरासत में लिया

तृणमूल कांग्रेस के 6 नेताओं का एक दल गुरुवार को असम पहुंचा. सिलचर एयरपोर्ट पर पहुंचते ही पुलिस और प्रशासकीय अधिकारियों ने इन नेताओं से किसी प्रकार की रैली या भाषण न करने का आश्वासन मांगा. बाद में इन नेताओं को हिरासत में लिए जाने की खबर है.

इस बारे में पार्टी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने दिल्ली में कहा, हमारे दल को सिलचर एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया. लोगों से मिलना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है. यहां आपातकाल जैसे हालात हैं.

अभी हाल में असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) जारी होने के बाद राजनीति तेज हो गई है. कांग्रेस, टीएमसी सहित कई विपक्षी दलों ने एनआरसी मसौदे का विरोध किया है. कुछ दिन पहले बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया था कि उनकी पार्टी के नेता असम जाएंगे और लोगों से एनआरसी के मुद्दे पर बात करेंगे. इस बाबत गुरुवार को टीएमसी का 6 सदस्यीय दल असम के एयरपोर्ट पर उतरा जहां उन्हें हिरासत में लिए जाने की खबर है.

तृणमूल नेताओं की अगुआई बंगाल के मंत्री फिरहद हकीम कर रहे हैं. नेताओं को एहतियातन हिरासत में लिया गया, ताकि प्रदेश में किसी प्रकार की अशांति न फैले.

ब्रायन ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, सिलचर एयरपोर्ट पर हमारे नेताओं के साथ हाथापाई की गई. ब्रायन ने कहा, टीएमसी कानून तोड़ने की कोई मंशा नहीं रखती.

तृणमूल कांग्रेस के आधिकारिक टि्वटर हैंडल पर जारी एक बयान में कहा गया है, मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के नेतृत्व में असम सरकार काफी डरी हुई है. हम लोग अंतिम सांस तक असम के लोगों के लिए मां-माटी-मानुष की लड़ाई लड़ते रहेंगे.

इधर संसद में तृणमूल सांसद सौगात रॉय ने असम में पार्टी नेताओं को हिरासत में लिए जाने का मुद्दा उठाया. उन्होंने इस घटना को 'विशेषाधिकार हनन' करार दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi