S M L

देखिए: इधर से उठाया, उधर रख दिया टीपू सुल्तान का हथियारखाना

1000 टन की इमारत को जैसे का तैसा शिफ्ट कर दिया गया.

Updated On: Mar 07, 2017 10:57 AM IST

FP Staff

0
देखिए: इधर से उठाया, उधर रख दिया टीपू सुल्तान का हथियारखाना

इंजिनियरिंग का अद्भुत कमाल दिखाते हुए श्रीरंगपट्न में टीपू सुल्तान के जमाने की एक इमारत को सीधे उठाकर दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया. ऐसा रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण के लिए जगह खाली करने के लिए किया गया. इस प्रक्रिया में इमारत को कोई नुकसान नहीं हुआ.

6 मार्च को मांड्या जिले में टीपू सुल्तान के हथियारखाने को उसकी मूल जगह से उठाकर 20 मीटर दूर रख दिया गया है. इस इमारत को मैसूर के टीपू सुल्तान ने बनवाया था और यहां हथियारें, तोपें और बारूद रखा जाता था.

Tipu1

इस स्मारक को शिफ्ट करने का काम भारतीय रेलवे के लिए ही शायद देश के लिए पहली ऐसी सफलता है. इस कार्य में 13 करोड़ रुपए का खर्च आया है.

Tipu7 Tipu6

शिफ्टिंग की यह प्रक्रिया 17 नवंबर 2016 को शुरू की गई थी. इस स्मारक का वजह करीब 1,000 टन है. इस प्रोजेक्ट की दिल्ली की पीएसएल इंजीनियरिंग और अमेरिका की वूल्फे नाम की कंपनियों ने मिलकर पूरा किया.

Tipu5 Tipu4

शिफ्टिंग की यह प्रक्रिया 17 नवंबर 2016 को शुरू की गई थी. इस स्मारक का वजह करीब 1,000 टन है. इस प्रोजेक्ट की दिल्ली की पीएसएल इंजीनियरिंग और अमेरिका की वूल्फे नाम की कंपनियों ने मिलकर पूरा किया.

Tipu3 Tipu2

दक्षिण पश्चिम रेलवे ने कहा, ‘यह स्मारक उस जगह से हटा दिया गया है जहां से नई लाइन बिछनी है. हालांकि इसे पूरी तरह सुरक्षित रखने के लिए हम इसे 50 मीटर तक खिसकाने का इंतजार कर रहे हैं. इसके बाद काम शुरू किया जाएगा.'

रेलवे बेंगलुरु-मैसूरु लाइन पर ट्रैक डबल कर रहा है. सिर्फ 1.5 किलोमीटर का काम बचा है और ट्रैक को अप्रैल तक तैयार कर लिए जाने की उम्मीद है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi