S M L

पति की मौत के ठीक तीन साल बाद, उसी दिन पत्नी ने दिया बेटे को जन्म, जानें कैसे

सुप्रिया के पति तो तीन साल पहले ही गुजर गए, लेकिन बच्चे का सपना उन्होंने साल 2015 में ही देखा था

Updated On: Aug 19, 2018 05:05 PM IST

FP Staff

0
पति की मौत के ठीक तीन साल बाद, उसी दिन पत्नी ने दिया बेटे को जन्म, जानें कैसे

एक कार एक्सीडेंट में अपने पति को खो देने के ठीक तीन साल बाद, उसी दिन सुप्रिया ने जसलोक हॉस्पिटल में अपने नए जन्मे बच्चे को गोद में उठाया. यह सबकुछ प्यार, इंतजार और तकनीक के चलते संभव हो पाया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर अनुसार सुप्रिया के पति तो तीन साल पहले ही गुजर गए, लेकिन बच्चे का सपना उन्होंने साल 2015 में ही देखा था. बेंगलुरु में काम करने वाले इस दंपती की शादी 2010 में हुई थी. शादी के पांच साल तक जब वे माता-पिता नहीं बन सके तो उन्होंने 'आईवीएफ' तकनीक की मदद लेने की सोची.

क्या है 'आईवीएफ' प्रक्रिया?

आईवीएफ एक प्रक्रिया है जिसमें अंडे की कोशिकाओं को मां के गर्भ से बाहर निकालते हैं और डोनर के स्पर्म के साथ निषेचित करते हैं. निषेचित करने की पूरी प्रक्रिया में लगभग तीन दिनों का समय लग जाता है. भ्रूण के पर्याप्त विकास के बाद इसे वापस मां के गर्भ में पहुंचा दिया जाता है.

हालांकि दंपती की किस्मत में कुछ और ही था. इस प्रक्रिया के शुरू होने के कुछ दिनों बाद ही गौरव(सुप्रिया का पति) की मृत्यु हो गई. इस अनहोनी घटना के बाद सुप्रिया सदमे में रहने लगी. अपनी निराशा और अकेलेपन को वो ब्लॉग के जरीए साझा किया करती थी.

एक दिन अचानक ही उन्होंने अपने मां-बाप को बिना बताए यह फैसला लिया कि वह अपने पति के बच्चे को जन्म देंगी. डॉक्टरों ने बड़ी ही मुश्किल से गौरव के स्पर्म्स को संभाल कर रखा था. फिर सरोगेशी के तहत बच्चे को जन्म दिया गया.

हर साल की तरह सुप्रिया अपने पति की मृत्यु वाले दिन शहर छोड़कर बाहर जाने वाली थीं लेकिन तभी उन्हें इस बात की खबर मिली की सरोगेट मदर ने उनके और गौरव के बेटे को जन्म दिया है.

सुप्रिया ने इस खबर को सुनने के बाद अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मैं बच्चा नहीं, गौरव का बच्चा चाहती थी. हमने पहले ही तय किया था कि हमारा एक बच्चा होगा और दूसरा हम अडॉप्ट कर लेंगे. अच्छी बात यह है कि गौरव की मौत वाले दिन अब मुझे शहर छोड़कर भागने का मन नहीं होगा.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi