S M L

महाराष्ट्र में 3 हजार गरीब जोड़ों की हुई ‘शाही शादी’, पहुंचे VIP मेहमान

चैरिटी आयुक्त शिवकुमार दिगे द्वारा शुरू की गई पहल के तहत मई की शुरुआत में राज्य में कई स्थानों पर सामूहिक विवाहों का आयोजन किया गया था

Updated On: May 20, 2018 05:39 PM IST

Bhasha

0
महाराष्ट्र में 3 हजार गरीब जोड़ों की हुई ‘शाही शादी’, पहुंचे VIP मेहमान

महाराष्ट्र भर में इस महीने 3 हजार गरीब जोड़ों ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शादी रचाई है. चैरिटी आयुक्त शिवकुमार दिगे द्वारा शुरू की गई पहल के तहत राज्य के कई स्थानों पर सामूहिक विवाहों का आयोजन किया गया था. दिगे ने पिछले महीने राज्य में स्थानीय धार्मिक संस्थानों और ट्रस्टों से अपील की थी कि वो अपने अपने क्षेत्रों में सामूहिक विवाहों के आयोजन के लिए अपने अतिरिक्त धन का उपयोग करें, विशेषकर किसानों और कृषक श्रमिकों की बेटियों और बेटों के लिए.

उन्होंने बताया कि इस अपील पर कई धार्मिक ट्रस्टों, सामाजिक संगठनों और लोगों ने शादी के लिए धनराशि जुटाकर राज्यभर में 3 हजार से अधिक जोड़ों की शादी का प्रबंध किया. दिगे ने बताया कि कई मामलों में बेटी की शादी का खर्च किसानों के कर्ज लेने का एक प्रमुख कारण बन जाता है जिससे कई बार कर्ज नहीं चुका पाने की स्थिति में वो आत्महत्या कर लेते हैं.

स्वप्निल साब्ले और उनकी पत्नी तेजल खुश हैं कि उन्होंने एक निजी समारोह का आयोजन करने के बजाय ‘सामूहिक शादी’ कार्यक्रम का हिस्सा बनकर 7 फेरे लिए और विवाह में खर्च होने वाली भारी राशि बच गई.

साब्ले और उनकी पत्नी दोनों गरीब किसान परिवारों से आते हैं और वो खुश हैं कि उन्होंने एक ‘बड़े और शाही तरीके से शादी’ की. यह दंपती उन 3 हजार जोड़ों में शामिल है जो महाराष्ट्र में इस महीने के शुरू में आयोजित हुए सामूहिक विवाह कार्यक्रम में इस पवित्र बंधन में बंधे थे.

Photo Source: News 18

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में गरीब जोड़ों की शादी कराई गई (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुंबई में 13 मई को आयोजित सामूहिक विवाह का हिस्सा बने साब्ले ने कहा कि उनके परिवार का पालघर जिले में एक छोटा सा खेत है. वो एक निजी फर्म में भी काम करते हैं जहां उन्हें कम वेतन मिलता है. उनकी पत्नी के पिता भी एक किसान हैं.

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में पहुंची जानी-मानी हस्तियां

उन्होंने कहा, ‘जब हमारी शादी तय हुई तो दोनों परिवारों के लिए सबसे प्रमुख मुद्दा समारोह के लिए धन जुटाना था. जब हमने मुंबई में सामूहिक विवाह के बारे में सुना था तो हमने हमारे भविष्य के लिए रुपए बचाने के लिए इसमें नामांकन कराने का फैसला किया और अब हम एक खुशहाल दंपती है.’

उन्होंने बताया कि पालघर जिले की वाडा तहसील से 95 से अधिक जोड़े मुंबई में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में अपने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों की मौजूदगी में शादी के बंधन में बंधे थे. साब्ले ने बताया कि वो बहुत आश्चर्यचकित थे कि समारोह में कई जानी-मानी हस्तियां भी शामिल हुई. दिगे ने बताया कि केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले और महाराष्ट्र के मंत्री सुभाष देसाई ने मुंबई में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में दंपतियों को आशीर्वाद दिया.

लातूर में 13 मई को आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में लगभग 45 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधे. इन जोड़ों में अधिकतर सूखा प्रभावित मराठवाड़ा क्षेत्र से किसानों और कृषक श्रमिकों के बेटे और बेटियां शामिल थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi