S M L

जिनका नाम असम एनआरसी में नहीं वो कर सकते हैं वोट: चुनाव आयुक्त

ओपी रावत ने साफ किया कि जिन लोगों के नाम एनआरसी में नहीं हैं उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है, वो आने वाले चुनावों में मतदान कर सकते हैं बशर्ते कि उनका नाम वोटर लिस्ट में हो

Updated On: Aug 01, 2018 04:47 PM IST

FP Staff

0
जिनका नाम असम एनआरसी में नहीं वो कर सकते हैं वोट: चुनाव आयुक्त

असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) के अंतिम मसौदे में 40 लाख लोगों का नाम शामिल नहीं है. इस मसले पर उठे सियासी तूफान के बीच मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा है कि यह कहना कि 40 लाख लोग मतदान नहीं कर सकते, जल्दबाजी होगी. चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि हो सकता है कि उनमें से कई 18 साल से कम के हों.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, ओपी रावत ने साफ किया कि जिन लोगों के नाम एनआरसी में नहीं हैं उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है. वो आने वाले चुनावों में मतदान कर सकते हैं, बशर्ते कि उनका नाम वोटर लिस्ट में हो.

ओपी रावत ने कहा कि मैंने राज्य में अपने चुनावी तंत्र से कहा है कि वह यह सुनिश्चित करे कि सभी योग्य मतदाताओं का नाम अगले साल सारांश पुनरीक्षण के दौरान मतदाता सूची में शामिल किया जाए.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि निर्वाचन आयोग अपने 'कोई मतदाता पीछे न छूटे' के लक्ष्य के साथ असम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से कहा है कि वह एनआरसी के राज्य समन्वयक के साथ मिलकर यह सुनिश्चित करें कि सभी योग्य मतदाता 2019 के सारांश पुनरीक्षण के दौरान मतदाता सूची में शामिल किये जाएं.

उन्होंने कहा कि इस तरह से अंतिम मतदाता सूची चार जनवरी 2019 को जारी की जाएगी और अगले लोकसभा चुनावों के लिए इस्तेमाल की जाएगी. उन्होंने कहा कि आने वाले हफ्तों में असम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एनआरसी के अंतिम मसौदे के बाद सामने आए विभिन्न पहलुओं पर एक तथ्यात्मक रिपोर्ट देंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi