S M L

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में इस साल का नया शब्द बना 'आधार'

डिक्शनरी में जगह बनाने के लिए आधार को मित्रों, जुमला, गोरक्षक, विकास, नोटबंदी और भक्त शब्द को पछाड़ना पड़ा

FP Staff Updated On: Jan 27, 2018 03:47 PM IST

0
ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में इस साल का नया शब्द बना 'आधार'

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में इस साल नए शब्द के रूप में आधार को जगह मिली है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस की तरफ से इसकी घोषणा शनिवार को जयपुर लिटरेचर फेस्ट के दौरान की गई. डिक्शनरी में जगह बनाने के लिए आधार को मित्रों, जुमला, गोरक्षक, विकास, नोटबंदी और भक्त शब्द को पछाड़ना पड़ा.

जानकारी के मुताबिक पहला आधार कार्ड 2010 में बना. वहीं इसकी कल्पना 2009 में हुई थी. 2017 में सरकार की नीतियों के चलते साल भर चर्चा में रहा. 2018 में भी इसके चर्चा में रहने की पूरी संभावना है. अंग्रेजी की तरह पहली बार हिंदी में वर्ड ऑफ द ईयर घोषित किया गया.

इस घोषणा के दौरान मंच पर लेखक अशोक वाजपेयी, पत्रकार विनोद दुआ, चित्रा मुद्गल, अनु सिंह चौधरी, पंकज दुबे, सौरभ द्विवेदी मौजूद रहे.

आधार को लेकर लोखकों-पत्रकारों के बीच जमकर हुई बहस 

अशोक वाजपेयी ने कहा कि मेरा कार्ड खो गया था. पहली बार लगा कि आधार शब्द डरावना है. मेरा मानवीय अस्तित्व निराधार हो गया था. उन्होंने कहा कि मित्रों शब्द गलत है, मित्रो सही शब्द है. नेताओं की जिम्मेदारी नहीं है भाषा बचाना.

वहीं पंकज दुबे ने कहा कि मुझसे जब लोग पूछते हैं कि लेखक बनने के लिए क्या जरूरी है? मेरा जवाब होता है- आधार. शुक्र है प्रेम के लिए आधार अभी जरूरी नहीं है. पत्रकार विनोद दुआ ने कहा कि वह आधार के विरुद्ध हैं. आधार मेरे संस्कार और मेरे उसूल हैं. मैं अपने आधार के साथ हूं. गुरुग्राम में एक बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट बनाने के लिए मां बाप का आधार मांगा गया. ये गलत है.

अनु सिंह चौधरी ने बताया कि ये शब्द राजस्थान के एक किसान ने यूआईडी की रिसर्च टीम को दिया. ये बात शंकर अय्यर की किताब में लिखा है. वहीं कुछ लोगों का कहना था कि जो काम भारत सरकार के राजभाषा विभाग को करना चाहिए, ब्रिटिश प्रकाशन कर रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi