Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में स्वाइन फ्लू से 47 की मौत

दिल्ली सरकार के अनुसार शहर में H1N1 वायरस से अब तक 5 लोगों की मौत हुई है जिनमें से 2 दिल्ली के रहने वाले हैं

Bhasha Updated On: Aug 22, 2017 09:48 PM IST

0
दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में स्वाइन फ्लू से 47 की मौत

देश की राजधानी दिल्ली में स्वाइन फ्लू लौट आया है. केंद्र सरकार के चार अस्पतालों में इस साल अब तक 47 लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत हो चुकी है. स्वाइन फ्लू का शिकार होने वालों में 22 लोग दिल्ली के थे.

हालांकि ये आंकड़े दिल्ली में केंद्र सरकार के चारों अस्पतालों समेत सभी अस्पतालों से जुटाए गये दिल्ली सरकार के आंकड़ों से मेल नहीं खाते. जिनके अनुसार एच1एन1 वायरस से शहर में अभी तक पांच लोगों की मौत हुई है जिनमें से दो दिल्ली के रहने वाले हैं.

राम मनोहर लोहिया (आरएमएल), एम्स, सफदरजंग अस्पताल से इस साल अब तक स्वाइन फ्लू के 95, 45 और 27 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है. इनमें से 45 लोगों की मौत हो गई है.

एक वरिष्ठ डॉक्टर के मुताबिक एक जुलाई से 16 अगस्त तक केंद्र सरकार के लेडी हार्डिंग अस्पताल में स्वाइन फ्लू के 30 मामलों की पुष्टि हुई है. दो मरीजों की इससे अब तक मौत हुई है.

आरएमएल अस्पताल के अधिकारियों के अनुसार एच1एन1 वायरस से यहां जिन 22 लोगों की मौत हुई है उनमें से 13 दिल्ली के थे. जबकि, सात यूपी से और दो हरियाणा के थे. एक अधिकारी ने बताया कि आरएमएल अस्पताल में स्वाइन फ्लू के लक्षण वाले कुल 195 मरीजों को भर्ती कराया गया. इनमें से 95 को वायरस का संक्रमण होने की पुष्टि हुई है.

एम्स अस्पताल के एक सीनियर डॉक्टर ने कहा कि एम्स में स्वाइन फ्लू के 45 मामले दर्ज किए गए जिनमें से 12 लोगों की मौत हो गयी. मरने वालों में चार लोग दिल्ली के थे. वहीं, सफदरजंग अस्पताल में 27 रोगी स्वाइन फ्लू के आए और 11 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई. मृतकों में से पांच दिल्ली के थे.

हालांकि दिल्ली सरकार के ताजा जारी आंकड़ों के अनुसार इस साल स्वाइन फ्लू से मौत के मामलों की संख्या पांच है जिनमें से दो दिल्ली के हैं. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के एक सीनियर अफसर से जब इस बारे में पूछा गया कि दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में स्वाइन फ्लू से मौत के कई मामले सामने आये हैं. इसपर उन्होंने कहा, ‘हमें अस्पतालों से ये आंकड़े नहीं मिले हैं. जैसे ही वे डाटा भेजेंगे, हम अपनी सूची में बदलाव करेंगे.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi