S M L

'दिल्ली मेट्रो की नई लाइन शहरी परिवहन के आधुनिकीकरण का उदाहरण'

मजेंटा लाइन के उद्घाटन कार्यक्रम के बाद नोएडा में पीएम मोदी एक रैली को भी संबोधित करेंगे

FP Staff Updated On: Dec 24, 2017 07:28 PM IST

0
'दिल्ली मेट्रो की नई लाइन शहरी परिवहन के आधुनिकीकरण का उदाहरण'

दिल्ली मेट्रो के तीसरे फेज में शुरू हो रहे मजेंटा लाइन का सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुभारंभ करेंगे. इस कार्यक्रम में उनके साथ-साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हिस्सा लेंगे. उद्घाटन कार्यक्रम के बाद नोएडा में पीएम मोदी एक रैली को भी संबोधित करेंगे.

रविवार को पीएम मोदी ने इस बारे में जानकारी देते हुए एक के बाद एक तीन ट्वीट किए. पीएम ने अपने पहले ट्वीट में लिखा कि एनसीआर में रह रहे लोगों के लिए शानदार खबर. दिल्ली मेट्रो के नए मजेंटा लाइन का कल उद्घाटन होगा जो नोएडा के बोटैनिकल गार्डन को दिल्ली के कालकाजी मंदिर को जोड़ती है. दिल्ली-नोएडा में यात्रा करना अब ज्यादा आसान और तेजी में होगा.

पीएम मोदी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि हम कैसे शहरी परिवहन का आधुनिकीकरण कर रहे हैं, दिल्ली मेट्रो की नई लाइन उसी का उदाहरण है. पीएम मोदी ने लिखा कि मैं भी इस मेट्रो कल यात्रा करूंगा. इस वर्ष मुझे कोच्चि और हैदराबाद मेट्रो के उद्घाटन और यात्रा का अवसर मिला है.

अपने आखिरी ट्वीट में पीएम ने लिखा कि कल मैं नोएडा में एक रैली को संबोधित करूंगा.

मजेंटा लाइन के इस मेट्रो रूट पर बोटैनिकल गार्डन से कालकाजी मंदिर तक 9 स्टेशन हैं. 12.64 किलोमीटर लंबी इस यात्रा को मात्र 19 मिनट में पूरा किया जा सकेगा. दिल्ली मेट्रो के फेज-3 प्लान के तहत इस लाइन के शुरू होने से नोएडा और दक्षिण दिल्ली के बीच यात्रा में लगने वाले समय में कमी आएगी. वर्तमान में नोएडा से दक्षिण दिल्ली के इलाकों में जाने के लिए मंडी हाउस पर मेट्रो बदलना पड़ता है. इस रूट के शुरू होने से नोएडा से फरीदाबाद आना और जाना भी सरल होगा.

दिल्ली मेट्रो रेल सुरक्षा आयुक्त (सीएमआरएस) ने पिछले महीने 12.64 किलोमीटर लंबे इस हिस्से को सुरक्षा संबंधी अपनी मंजूरी दे दी थी. यह मार्ग बोटैनिकल गार्डन-जनकपुरी वेस्ट (मैजेंटा) लाइन का हिस्सा है.

इस रूट पर दिल्ली मेट्रो की नई और आधुनिक ट्रेनें चलेंगी. यह ट्रेनें ड्राइवर लेस (बगैर चालक) चलेंगी. हालांकि शुरूआत में 2-3 साल तक ट्रेन को ड्राइवर ऑपरेट करेंगे. इस रूट पर अत्याधुनिक संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण (सीबीटीसी) सिग्नल तकनीक भी सेवा में लगाई जाएगी, जिसके चलते ट्रेनों की रनिंग फ्रीक्वेंसी 90-110 सेकेंड होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi