S M L

जानिए कौन खोल सकता है सुनंदा पुष्कर की मौत का राज?

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने चार्जशीट में लगाए गए दिल्ली पुलिस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि उनकी मंशा इसका डटकर मुकाबला करने की है

FP Staff Updated On: May 15, 2018 08:45 PM IST

0
जानिए कौन खोल सकता है सुनंदा पुष्कर की मौत का राज?

सुनंदा पुष्कर की मौत के करीब सवा चार साल बाद दिल्ली पुलिस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है. कोर्ट 24 मई को पहली बार इस चार्जशीट पर सुनवाई करेगी. इस दौरान दिल्ली पुलिस को चार्जशीट की थ्योरी के अनुसार कोर्ट में सबूत भी पेश करने होंगे. अगर सूत्रों की मानें तो सुनंदा पुष्कर के नजदीकी दोस्त ही अब कोर्ट में उसकी मौत का राज खोलेंगे. इस बारे में न्यूज18 हिंदी ने बात की आपराधिक मामलों के जानकार और एडवोकेट नफीस खान.

नफीस खान बताते हैं कि ‘इन्हीं दोस्तों के बयान पर पुलिस की चार्जशीट भी टिकी हुई है. सुनंदा पुष्कर के दोस्तों की फेहरिस्त में नालिनी सिंह हैं जो भारत में रहती हैं. वहीं सुनंदा के दुबई में रहने वाले दोस्त भी उसकी मौत के राजदार हैं. पुलिस और जांच अधिकारी को दिए अपने बयान में नालिनी सिंह ने बताया है कि सुनंदा ने उन्हें फोन कर बताया था कि शशि थरूर उन्हें परेशान कर रहे हैं.'

वह एक पाकिस्तानी महिला से शादी करना चाहते हैं. वह उसे दुबई में भी मिले चुके हैं. इस बात के सबूत उनकी दुबई में रहने वाले दोस्त उन्हें दे चुके हैं. अब खास बात ये है कि पुलिस ने चार्जशीट में जिन दो धाराओं 498A और 306 का जिक्र किया है वह इसी तरह के बयानों पर टिकेगी. शशि थरूर सुनंदा को परेशान करते थे इस बात के पुलिस के पास कोई और सबूत होने की बात भी सामने नहीं आ रही है. इसलिए पुलिस भी कोर्ट में पूरी तरह से इन्हीं गवाहों पर निर्भर रहेगी.’

पुलिस की चार्जशीट पर क्या बोले शशि थरूर

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने चार्जशीट में लगाए गए दिल्ली पुलिस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि उनकी मंशा इसका डटकर मुकाबला करने की है. बेतुके आरोप-पत्र को दाखिल किए जाने का मैंने संज्ञान लिया है और मेरी मंशा इसका मुकाबला करने की है. मेरी तरफ से उकसाए जाने की बात को जाने दें तो भी सुनंदा को जो कोई जानता है, वह इस बात पर कभी भरोसा नहीं करेगा कि वह आत्महत्या कर सकती है.

कब-कैसे चला पुलिस और एसआईटी की जांच का घटनाक्रम

-मौत को पहले आत्महत्या बताया गया और इसका कारण दवाओं की ओवरडोज को माना था.

-एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सुनंदा के शव का पोस्टमार्टम किया और 29 सितंबर 2014 को दिल्ली पुलिस को रिपोर्ट सौंपी. इसमें बताया कि सुनंदा की मौत जहर से हुई है.

-इस रिपोर्ट के बाद 1 जनवरी, 2015 को सरोजनी नगर थाने में हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया.

-इसके बाद सुनंदा के विसरा को जांच के लिए फॉरेंसिक ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) अमेरिका की लैब में भेज दिया गया था. लेकिन वहां भी जहर के बारे में पता नहीं लग सका.

-जांच के लिए बनी एसआईटी ने शशि थरूर के कई परिजनों, रिश्तेदारों, दोस्तों और अन्य से पूछताछ की लेकिन नतीजा नहीं निकला.

-पिछले साल सितंबर में दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट को बताया था कि उसके हाथ कुछ नए साक्ष्य लगे हैं. इसके माध्यम से वह सुनंदा के कातिल तक पहुंच जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi