S M L

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने भारत लौटने की खबरों को बताया अफवाह

इससे पहले खबर आई थी कि मलेशिया पुलिस ने जानकारी दी है कि जाकिर नाइक को भारत भेजा जा रहा है

FP Staff Updated On: Jul 04, 2018 03:07 PM IST

0
विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने भारत लौटने की खबरों को बताया अफवाह

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने अपने भारत लौटने की खबरों को खारिज कर दिया है और कहा है कि यह सरासर अफवाह है. इससे पहले यह खबर आई थी कि मलेशिया पुलिस ने जानकारी दी है कि जाकिर नाइक को भारत भेजा जा रहा है.

हालांकि इस खबर पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के प्रवक्ता अलोक मित्तल ने कहा कि उनके पास इससे जुड़ी अभी कोई जानकारी नहीं है. हम इसकी पुष्टि कर रहे हैं.

जाकिर नाइक ने अपने बयान में कहा है कि मेरे भारत लौटने की खबरें पूरी तरह निराधार और अफवाह हैं. जब तक गलत अभियोजन से मैं खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करूंगा तब तक मेरी भारत लौटने का कोई इरादा नहीं है. जब मैं यह महसूस करूंगा कि सरकार मेरे साथ निष्पक्ष होगी तब मैं अपने देश जरूर वापस आ जाऊंगा.

इस पूरे मामले पर जाकिर नाइक के वकील मुबिन सोलकर ने कहा कि यह खबर बिल्कुल झूठी और निराधार है क्योंकि वह आज भारत नहीं आ रहे हैं. जहां तक प्रत्यर्पण प्रक्रिया का सवाल है, उसमें पहले बताया गया था कि भारत सरकार ने इसके लिए कार्यवाही शुरू की है लेकिन अबतक कोई प्रगति नहीं हुई है.

वहीं जाकिर नाइक के मलेशिया से भारत आने की खबरों पर सूत्रों ने कहा कि विदेश मंत्रालय ने इस साल के शुरुआत में मलेशिया से नाइक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया था और राजनयिक के माध्यम से इसपर काम किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि नाइक के भारत आने की खबरों पर मलेशियाई अधिकारियों ने इस बारे में अबतक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की है.

इस विवादित उपदेशक पर हेट स्पीच, मनी लॉन्ड्रिंग और आंतकी संगठनों को फंडिंग मुहैया कराने के आरोप हैं. एनआईए ने नाइक के खिलाफ 2017 में आपराधिका मामला भी दर्ज किया था. नाइक के खिलाफ ईडी की जांच भी चल रही है.

2016 में बांग्लादेश में हुए बम धमाके के लिए नाइक के भाषण को जिम्मेदार माना जाता है. इस हमले में भारत की एक लड़की की भी जान गई थी. बांग्लादेश ने कहा था कि पीस टीवी पर उसके भाषण से हमलावर प्रभावित हुए थे.

जाकिर नाइक 2016 में ही देश छोड़कर बाहर जा चुका है. उसे आखिरी बार अक्टूबर, 2017 में मलेशिया में देखा गया था. इसके बाद से ही भारत सरकार उसे भारत लाने की कोशिश में लगी हुई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi