S M L

सब्जी विक्रेता था टेरर फंडिंग का मास्टरमाइंड रमेश, बाद में खोला था मार्ट

लखनऊ में एटीएस के प्रवक्ता ने बताया कि रमेश को हाल ही में डेंगू हुआ था इसलिए उसकी फिटनेस रिपोर्ट मिलने के बाद ही उसे रिमांड पर लेकर विस्तृत पूछताछ की जाएगी

Updated On: Jun 22, 2018 09:37 PM IST

Bhasha

0
सब्जी विक्रेता था टेरर फंडिंग का मास्टरमाइंड रमेश, बाद में खोला था मार्ट
Loading...

आतंकी फंडिंग के मास्टरमाइंड रमेश शाह सब्जी विक्रेता था लेकिन साल भर पहले उसने सत्यम मार्ट खोल लिया था.

रमेश को बुधवार को पुणे से गिरफ्तार किया गया था. रमेश के बारे में जानकारी पिछले दिनों गोरखपुर से 24 मार्च को गिरफ्तार किए गए छह संदिग्ध आतंकियों से मिली थी.

इस बीच रमेश को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया गया है. उसे अदालत के समक्ष पेश किया गया. अदालत ने उसे सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया.

लखनऊ में एटीएस के प्रवक्ता ने बताया कि रमेश को हाल ही में डेंगू हुआ था इसलिए उसकी फिटनेस रिपोर्ट मिलने के बाद ही उसे रिमांड पर लेकर विस्तृत पूछताछ की जाएगी.

बिहार के गोपालगंज के रहने वाले रमेश के पिता हरिशंकर अपनी पत्नी सुशीला के साथ रमेश को लेकर 30 साल पहले यहां आकर बसे थे और मोहद्दीपुर ओवरब्रिज के नीचे चार फाटक पर सब्जी की दुकान लगाने लगे. रमेश भी उसके साथ कारोबार में शामिल हो गया.

साल भर पहले ही मेडिकल रोड पर रमेश ने सत्यम मार्ट खोला. उसके परिवार वालों का मानना था कि कड़ी मेहनत और बचत के दम पर वह ऐसा कर पाया.

दो शादियां की थीं रमेश ने

उसके पिता हरिशंकर ने बताया कि हम बिछिया क्षेत्र की सर्वोदय कालोनी में टीन शेड में रहते हैं. रमेश अपनी दूसरी पत्नी के साथ यहीं रहता था. उसने अपनी पहली पत्नी को उसने शाहपुर में किराए के मकान में रखा था.

उन्होंने बताया कि रमेश छह मार्च को किसी शादी में गया था और वह तभी से लापता था. उन्होंने बताया कि अक्सर वह कहीं जाता था तो लंबे समय तक टिक जाता था इसलिए हमने लापता होने की रिपोर्ट नहीं लिखायी.

हरिशंकर ने बताया कि रमेश प्रापर्टी का कारोबार भी कर रहा था. अपनी बचत से उसने मार्ट खोला जो अब बंद हो गया है.

उसकी मां सुशीला ने बताया कि रमेश ने अपनी बचत से मार्ट खोला था. सुशीला का कहना है कि उन्होंने भी मार्ट खोलने में रमेश की आर्थिक मदद की थी.

रमेश की पहली पत्नी रामजी पाठक के मकान में किराए पर रहती है. पाठक ने बताया कि रमेश का स्वभाव बहुत अच्छा था और उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि वह राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल होगा.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi