S M L

तेलंगाना में मुसलमानों को मिलेगा 12 फीसदी आरक्षण

सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े मुसलमानों के तबके के लिए आरक्षण की सीमा को चार फीसदी से बढ़ाकर बारह फीसदी करने का फैसला लिया है

Updated On: Apr 16, 2017 04:55 PM IST

FP Staff

0
तेलंगाना में मुसलमानों को मिलेगा 12 फीसदी आरक्षण

तेलंगाना सरकार ने सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े मुसलमानों के तबके के लिए आरक्षण की सीमा को चार फीसदी से बढ़ाकर बारह फीसदी करने का फैसला लिया है.

यह फैसला राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया जिसकी अध्यक्षता मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने की.

यह भी पढ़ें: तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव बनेंगे दो दिन के लिए कुली नंबर1 

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कैबिनेट ने अनुसूचित जनजाति के लिए भी आरक्षण को वर्तमान के सात फीसदी से बढ़कार दस फीसदी कर दिया है.

राज्य विधानमंडल के दोनों सदन रविवार को एक विशेष सत्र में मुसलमानों और अनुसूचित जनजाति समुदाय के लिए शिक्षा और रोजगार में आरक्षण बढ़ाने से संबंधित विधेयक को पारित करेंगे.

तेलंगाना अपनाएगा तमिलनाडु मॉडल 

आरक्षण में इस बढ़ोतरी के बाद राज्य में कुल आरक्षण निर्धारित पचास फीसदी से अधिक हो जाएगा.

राज्य सरकार के अनुसार तेलंगाना इस आरक्षण विधेयक को पारित कर केंद्र के पास भेजेगी. राज्य सरकार केंद्र सरकार से गुजारिश करेगी कि इसे संविधान की नौवीं अनुसूची में शामिल किया जाए, जैसा कि तमिलनाडु के मामले में किया गया था.

चंद्रशेखर राव ने कहा कि तेलंगाना, तमिलनाडु के माडल को अपना रहा है जहां विभिन्न समूहों को कुल 69 फीसदी आरक्षण दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: आरक्षण को लेकर नायडू का बड़ा बयान, बोले- बन जाएग एक और पाक

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi