S M L

तेजप्रताप तलाक मामला: शादी के बाद 3 दिन तक करवाई थी कृष्णलीला

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने अपनी वैवाहिक जीवन में सुख, शांति और समृद्धि के लिए 'कृष्णवतार' का तीन दिनों तक मंचन करवाया था

Updated On: Nov 02, 2018 08:12 PM IST

FP Staff

0
तेजप्रताप तलाक मामला: शादी के बाद 3 दिन तक करवाई थी कृष्णलीला
Loading...

पटना के सिविल कोर्ट में लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने तलाक की अर्जी दी है. यादव और ऐश्वर्या की शादी 6 महीने पहले ही हुई थी.

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने अपनी वैवाहिक जीवन में सुख, शांति और समृद्धि के लिए 'कृष्णवतार' का तीन दिनों तक मंचन करवाया था. तेज प्रताप का विवाह 12 मई को हुआ था. 13 मई को राबड़ी देवी के आवास और 14 एवं 15 मई को बांके बिहारी शिव मंदिर के प्रांगण में शाम 5 बजे से रात 10.30 बजे तक कृष्णलीला करवाया था.

बांके बिहारी शिव मंदिर को तेज प्रताप ने एक ज्योतिषी की सलाह पर जबरन सरकारी जमीन पर बनवाया था. तब आरजेडी भी सरकार में शामिल थी और तेज प्रताप स्वास्थ्य मंत्री थे.

कृष्णलीला का आयोजन विशुद्ध रूप से पारिवारिक था. हालांकि मंदिर में की गई कृष्णलीला को आस-पास झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों ने देखा था. तेज प्रताप ने तीनों दिन अपनी नई नवेली दुल्हन ऐश्वर्या राय के साथ राधा-कृष्ण की लीला का आनंद लिया. मिजाज से कृष्ण भक्त तेज प्रताप यादव ने भगवान की आरती भी की.

कृष्ण भक्त हैं तेज प्रताप

लालू यादव के बड़े पुत्र भगवान कृष्ण के परम भक्त हैं और अक्सर मथुरा-वृंदावन आते-जाते रहते हैं. उनके एक करीबी के मुताबिक, 'तेज प्रताप यादव चाहते थे कि शादी के बाद वृंदावन से कलाकार बुलाकर कृष्णलीला का मंचन करवाया जाए.' कुल 18 कलाकार वृंदावन से आए थे उनमें 6 महिलाएं थीं. अवधेश मिश्रा कृष्ण की जीवंत भूमिका में थे. वहीं प्रीति शर्मा राधा का रोल अदा करके सबका मन मोह रही थी. बाकी के कलाकार कृष्ण और राधा के सखा और सखी का पाठ बखूबी प्ले कर कार्यक्रम में समा बांधने का काम कर रहे थे.

तेज प्रताप यादव ने पहली बार अपने घर पर कृष्णलीला का आयोजन किया था. शाही शादी में शिरकत करने के लिए तेज प्रताप यादव की जो बहनें पटना आईं थी उन में से कुछ ने इसका आनंद लिया. कहते हैं कि पूर्व सीएम राबड़ी देवी और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी कुछ देर तक रूककर कृष्णलीला देखी.

वैसे जग जाहिर है कि तेज प्रताप यादव कई प्रकार के अजब-गजब धार्मिक आयोजन अपने आवास पर कराते रहते हैं. साल में कम से कम दो बार वृंदावन जाते हैं. प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में पूजा पाठ करते हैं. तेज प्रताप पिछले साल राजनीतिक परेशानी से छुटकारा पाने के लिए अपने सरकारी आवास 3, देशरत्न मार्ग में अष्टजाम कीर्तन का आयोजन किया था. उस धार्मिक अनुष्ठान को अखंड कीर्तन के नाम से भी जाना जाता है. धार्मिक मान्यता है कि अष्टजाम के अनुष्ठान से मुसीबत दूर होती है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi