S M L

हिन्दू-मुस्लिम छात्रों को अलग-अलग बिठाने के मामले में शिक्षक प्रभारी निलंबित

एनडीएमसी शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि हिंदू-मुस्लिम बच्चों को अलग बिठाने का यह सिलसिला तभी से शुरू हुआ जब से सी. बी सिंह ने बतौर शिक्षक प्रभारी स्कूल ज्वाइन किया था

Updated On: Oct 11, 2018 09:58 AM IST

FP Staff

0
हिन्दू-मुस्लिम छात्रों को अलग-अलग बिठाने के मामले में शिक्षक प्रभारी निलंबित

राजधानी दिल्ली के एक प्राथमिक विद्यालय में हिन्दू और मुस्लिम छात्रों को अलग-अलग कक्षा में बिठाने संबंधी मामले में उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) ने स्कूल के शिक्षक प्रभारी को निलंबित कर दिया है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर अनुसार मामले में आरोपी शिक्षक प्रभारी सी.बी सिंह सेहरावत ने कहा कि यह सबकुछ जानबूझ कर नहीं किया गया, प्रशासन ने ही शांति, सौहार्द और अनुशासन बरकरार रखने के लिए ही ऐसा फैसला लिया था.

वहीं एनडीएमसी शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि हिंदू-मुस्लिम बच्चों को अलग बिठाने का यह सिलसिला तभी से शुरू हुआ जब से सी. बी सिंह ने बतौर शिक्षक प्रभारी स्कूल ज्वाइन किया था. शिक्षा विभाग से बिना संपर्क किए वो ऐसे फैसला लिया करते थे, लेकिन इससे पहले हमें ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली. बुधवार को जब पहली बार यह बात सामने आई तो मैं चकित रह गया.

उधर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने मामले से जुड़ी रिपोर्ट मांगी है. मंत्रालय के मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा है कि हमारे पास अभी तक कोई शिकायत नहीं दर्ज हुई, लेकिन हमने मीडिया रिपोर्ट्स पढ़ी हैं.

वहीं दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि बीजेपी शासित नगर पालिका स्कूल में बच्चों को अलग बिठाने की कोशिश संविधान के खिलाफ षड्यंत्र है. मैंने शिक्षा निदेशक से मामले की अपने स्तर पर जांच करने की मांग की है.

दिल्ली कमिशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स ने स्कूल के प्रमुख और निदेशक (शिक्षा) को यह पूछते हुए नोटिस भेजा है कि छात्रों को अलग-अलग सेक्शन में बांटने की किस प्रक्रिया का पालन किया गया था.

बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने वर्तमान में बांटे गए सभी सेक्शन को दोबारा बांटने का आदेश दिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi