S M L

पासपोर्ट विवाद: तन्वी सेठ का पासपोर्ट हुआ बहाल, नए नियमों से मिली राहत

पुलिस ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन के नए नियमों को लेकर तन्वी सेठ और उनके पति के खिलाफ कोई भी एडवर्स रिपोर्ट दाखिल नहीं की है

Updated On: Jul 04, 2018 09:55 AM IST

FP Staff

0
पासपोर्ट विवाद: तन्वी सेठ का पासपोर्ट हुआ बहाल, नए नियमों से मिली राहत

तन्वी सेठ को पासपोर्ट मामले में क्लीयरेंस मिल गई है. लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस ने साफ किया है कि तन्वी सेठ और उनके पति अनस सिद्दीकी के पासपोर्ट रद्द नहीं किए जाएंगे. पासपोर्ट ऑफिस के मुताबिक पासपोर्ट बनवाने के लिए पते का सत्यापन होना जरूरी नहीं है. और पुलिस ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन के नए नियमों को लेकर तन्वी सेठ और उनके पति के खिलाफ कोई भी एडवर्स रिपोर्ट दाखिल नहीं की है. ऐसे में दंपति का पासपोर्ट रद्द नहीं किया जा सकता.

कुछ दिनों पहले लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार ने बताया था कि उन्होंने तन्वी सेठ के खिलाफ उनके पते के सत्यापन को लेकर एडवर्स रिपोर्ट दाखिल की थी. क्योंकि उन्होंने पासपोर्ट बनवाने के लिए जिस घर का पता दिया था वहां वो एक साल से नहीं रह रही थीं.

लेकिन इस मामले में अब पासपोर्ट अधिकारी पीयूष वर्मा ने साफ किया है कि पासपोर्ट बनवाने के लिए 1 जून से जो नए नियम लागू हुए हैं उनके मुताबिक किसी व्यक्ति के पते पर एडवर्स रिपोर्ट दाखिल नहीं हो सकती.

ऐसे में अब तन्वी सेठ और उनके पति के पासपोर्ट को रद्द न करने का फैसला लिया गया है.

सुषमा स्वराज ने दिया ट्रोलर को करारा जवाब

वहीं दूसरी तरफ बुधवार को पासपोर्ट विवाद मामले में लगातार ट्रोलिंग झेल रहीं सुषमा स्वराज ने एक ट्रोलर को करारा जवाब देते हुए ब्लॉक कर दिया. दरअसल सोनम महाजन नाम के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल ने सुषमा स्वराज को टैग करते हुए लिखा था, 'ये गुड गवर्नेंस देने आए थे. ये लो भाई, अच्छे दिन आ गए हैं. सुषमा स्वराज जी, मैं आपकी फैन थी और आपको गाली देने वालों से लड़ी थी. अब आप प्लीज मुझे भी ब्लॉक कर दीजिए, इनाम दीजिए, इंतजार रहेगा.'

विदेश मंत्री ने इस ट्वीट का अपने ही अंदाज में जवाब दिया. उन्होंने एक लाइन का जवाब देते हुए कहा, 'इंतजार क्यों? लीजिए ब्लॉक कर दिया.'

बता दें कि पासपोर्ट विवाद को लेकर विदेश मंत्री पिछले कुछ दिनों से ट्रोल के अभद्र पोस्ट को लाइक कर अपना विरोध प्रदर्शित कर रही थीं. ये ट्रोल उन्हें निशाना बना रहे थे. ट्रोलर्स सुषमा स्वराज से इस बात से नाराज थे क्योंकि उनका मानना था कि विदेश मंत्रालय ने इस मामले में एकतरफा कार्रवाई की थी. इनका कहना था कि पासपोर्ट ऑफिसर के साथ एकतरफ कार्रवाई की गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi