S M L

तमिलनाडुः जंगल की आग में फंसे ट्रैकर्स, 9 की मौत, 27 बचाए गए

इस आग में फंसे 36 लोगों में से 27 लोगों को बचा लिया गया है

Updated On: Mar 12, 2018 01:15 PM IST

FP Staff

0
तमिलनाडुः जंगल की आग में फंसे ट्रैकर्स, 9 की मौत, 27 बचाए गए

तमिलनाडु के थेनी जिले के जंगल में लगी भयानक आग में फंसकर 9 लोगों की मौत हो गई. जबकि इस आग में फंसे 36 लोगों में से 27 लोगों को बचा लिया गया है. वायुसेना ने हादसे के शिकार हुए 9 लोगों के शव बाहर निकाल लिए हैं.

रेवेन्यू कमिश्नर के. सत्यगोपाल ने संवाददाताओं को बताया कि इस घटना में 9 लोगों की मौत हो गई जबकि बचाए गए 17 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत नहीं थी.

जंगल में रविवार को भयानक आग लग गई थी. थेनी की जिला कलेक्टर मरियम पल्लवी बलदेव ने बताया कि 9 मृतकों में चार पुरुष, चार महिलाएं और एक बच्चा शामिल है. इनमें से 6 लोग चेन्नई के हैं, जबकि अन्य तीन इरोड के रहने वाले हैं.

थेनी की जिला कलेक्टर मरियम पल्लवी बलदेव के मुताबिक ट्रेकिंग अभियान पर निकली 36 लोगों की टीम 10 मार्च को कुरंगानी पहाड़ियों पर पहुंची थी. इस टीम में 25 महिलाएं और तीन बच्चे शामिल थे.

पल्लवी बलदेव ने बताया कि कोजुकुमलई में रात भर रुकने के बाद ट्रैकरों ने रविवार सुबह अपनी वापसी यात्रा शुरू कर दी थी. इस दौरान उन्हें जंगल में अचानक लगी आग के बारे में पता चला और सुरक्षित रास्ता ढूंढने के चलते वह बिछड़ गए.

कोयंबटूर के सुलुर एयरबेस से तैनात किए गए भारतीय वायुसेना के चार हेलीकॉप्टरों के अलावा  वन विभाग, पुलिस के कर्मी और स्थानीय अधिकारी भी इन बचाव कार्यों में शामिल थे.

इसी बीच भारतीय वायु सेना के चार हेलीकॉप्टर और गरुड़ कमांडो फोर्स के 16 कमांडो भी रेस्क्यू ऑपरेशन में मदद करने के लिए घटनास्थल पर पहुंच गए थे.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि 16 गरुड़ कमांडो सुबह 3 बजे ही घटनास्थल पर पहुंच गए थे. उन्होंने रात में ही कुछ लोगों बचाया था.  गरुड़ कमांडो मारे गए लोगों के शरीर ऊपर उठाने की कोशिश कर रहे हैं जिन्हें 2 हेलीकॉप्टरों के जरिए नीचे लाया जाएगा. फिलहाल 1 हेलीकॉप्टर की मदद से आग बुझा दी गई है.

दरअसल इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मदद के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से संपर्क किया था, जिसके बाद रक्षा मंत्री के निर्देश पर दो हेलीकॉप्टरों को भेजा गया था.

राहत कार्य में जुटी टीम

पश्चिमी घाट की कुरंगानी- कोजुकमलई पहाड़ियां बोदिनयकनूर के पास स्थित हैं जो थेनी से 40 किलोमीटर दूर है.

स्वास्थ्य राज्य मंत्री सी विजयभास्कर ने बताया कि एक चिकित्सीय टीम ने कुरुंगनी पहुंचकर घायल ट्रैकरों को इलाज मुहैया कराया.

उन्होंने संवाददाताओं को बताया, 'वहां एक चिकित्सकीय टीम भेजी गई है. 9 मरीजों को पहले ही बोदी के सरकारी अस्पताल भेजा जा चुका है और उन सभी की स्थिति स्थिर बनी हुई है.'

मंत्री ने बताया कि घायलों में से एक की पहचान अनु नित्य के तौर पर हुई है जो 90 प्रतिशत तक जल चुकी हैं जबकि अन्य दो इलाकिया और सबिता 15-20 प्रतिशत तक जल गई हैं.

मदुरई के जिला कलेक्टर वीरराघव राव ने बताया कि प्लास्टिक सर्जन वाली चिकित्सकीय टीम को इलाज मुहैया कराने के लिए मदुरई गवर्नमेंट राजाजी हॉस्पिटल भेजा गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi