S M L

कॉलेज सेक्स स्कैंडल मामले में दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: राज्यपाल

मदुरै की एक अदालत ने मंगलवार रात प्रोफएसर को 12 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उसे बाद में शहर के केंद्रीय कारागार में ले जाया गया

Updated On: Apr 18, 2018 12:08 PM IST

Bhasha

0
कॉलेज सेक्स स्कैंडल मामले में दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: राज्यपाल

तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने मंगलवार को कहा कि एक कॉलेज की महिला लेक्चरर के खिलाफ  कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को दंडित किया जाएगा. वह लेक्चरर विश्वविद्यालय के आला अधिकारियों की यौन तुष्टि करने के लिए कथित तौर पर छात्राओं को उकसाती  थी.

उन्होंने कहा , ‘ मामला बेहद गंभीर है -- ऐसा नहीं होना चाहिए था और दोषियों को दंडित किया जाएगा.’

मदुरै की एक अदालत ने मंगलवार रात लेक्चरर को 12 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उसे बाद में शहर के केंद्रीय कारागार में ले जाया गया.

राज्यपाल ने कहा कि मामले की जांच के लिए रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स आर संथानम के नेतृत्व में एक सदस्यीय समिति का गठन किया गया है.

इससे पहले, मामले की जांच तमिलनाडु पुलिस की क्राइन ब्रांच को सौंपी दी गई थी.

कॉलेज की शिकायत पर गिरफ्तार हुई थी प्रोफेसर

लेक्चरर निर्मला देवी को सोमवार को कॉलेज और एक महिला फोरम की शिकायत के बाद गिरफ्तार किया गया था. निर्मला देवी और छात्राओं के बीच कथित बातचीत का ऑडियो क्लिप रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद यह शिकायत दर्ज कराई गई थी.

विरुधुनगर जिले में अरूपुकोट्टई में देवांगा आर्ट्स कॉलेज में काम करने वाली देवी को पहले ही निलंबित किया जा चुका है.

ऑडियो में देवी को यह कहते सुना जा रहा है कि 85 फीसदी अंक और धन पाने के लिए छात्राएं अधिकारियों के साथ समझौता कर लें. इसे यौन तुष्टि के सुझावों के तौर पर देखा जा रहा है.

हालांकि , देवी ने अपनी सलाह में यौन पहलू से इनकार किया है और दावा किया है उन्होंने सही भावना से ऐसा किया और इसके पीछे कोई छिपी हुई मंशा या एजेंडा नहीं था.

ऑडियो क्लिप में किया गया था राज्यपाल को जानने का दावा

मामले की सीबीआई से जांच कराने की विपक्ष की मांग पर पुरोहित ने कहा कि मामला इस बारे में विचार एक सदस्यीय समिति की रिपोर्ट के आधार पर किया जाएगा.

महिला लेक्चरर के ऑडियो में राज्यपाल को जानने और हालिया दीक्षांत समारोह में उन तक पहुंच होने का दावा करने के बारे में पूछे जाने पर पुरोहित ने कहा कि उन्होंने इस तरह के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया है.

उन्होंने कहा , ‘ अगर कोई यहां - वहां आ जा रहा है तो मैं कैसे किसी को जानता हूं. मैं महिला को नहीं जानता हूं.’

उन्होंने कहा कि टेप में उनका उल्लेख सिर्फ ग्रैंडफादर के तौर पर हुआ है.

पुरोहित ने कहा कि उन्होंने उसे नहीं देखा है और पूरे समय उनकी समूची टीम ने उन्हें घेर रखा था. बिना अनुमति के कोई परिंदा भी उनतक नहीं पहुंच सकता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi