Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

देसी ही नहीं विदेशी सैलानियों की भी पहली पसंद है तमिलनाडु

देशी सैलानियों के यूपी दूसरी पसंद रहा जबकि विदेशी सैलानियों के लिए महाराष्ट्र दूसरी और यूपी तीसरी पसंद रहा

FP Staff Updated On: Aug 02, 2017 05:58 PM IST

0
देसी ही नहीं विदेशी सैलानियों की भी पहली पसंद है तमिलनाडु

पिछले एक साल में तमिलनाडु घरेलू ही नहीं विदेशी सैलानियों की भी पहली पसंद रहा है. केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के साल 2016 के आंकड़ों के मुताबिक सर्वाधिक सैलानियों ने तमिलनाडु का रुख किया.

केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने राज्य सभा में एक सवाल के लिखित जवाब में पर्यटन सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए किए गए उपायों की जानकारी देते हुये सैलानियों की आमद के लिहाज से दस शीर्ष राज्यों का ब्यौरा पेश किया.

आंकड़ों के मुताबिक तमिलनाडु जाने वाले घरेलू सैलानियों की संख्या 34.38 करोड़ थी जबकि विदेशी पर्यटकों की संख्या 47.21 लाख थी. यह भारत आए कुल विदेशी सैलानियों का 19.1 प्रतिशत हिस्सा था.

महाराष्ट्र है विदेशी सैलानियों की दूसरी पसंद

घरेलू सैलानियों के मामले में उत्तर प्रदेश (21.17 करोड़) दूसरे स्थान पर रहा. हालांकि विदेशी सैलानियों के लिए महाराष्ट्र (46.70 लाख) दूसरी और उत्तर प्रदेश (31.56 लाख) तीसरी पसंद रहा.

शर्मा ने पर्यटन सुविधायें बढ़ाने के लिए किए गए उपायों के बारे में बताया कि पर्यटन और रेल मंत्रालय देश भर में चयनित 26 रेलवे स्टेशनों पर घरेलू और विदेशी सैलानियों के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की पर्यटन सुविधाएं विकसित कर रहे हैं. इसके अलावा उड़ान योजना के तहत विभिन्न पर्यटन स्थलों को हवाई सेवा से जोड़ने की योजना शुरू की गई है.

उन्होंने बताया कि मंत्रालय ने राज्य और संघ शासित क्षेत्रों की सरकारों के साथ मिल कर पर्यटकों की सुरक्षा के भी पुख्ता उपाय किए जा रहे हैं. इनमें पर्यटकों के लिए फरवरी 2016 से हिंदी और अंग्रेजी सहित 12 भाषाओं में 24 घंटे टोल फ्री हेल्पलाइन सुविधा शुरू की गई. पर्यटक स्थलों पर पर्यटन पुलिस की तैनाती की है. साथ ही तीर्थस्थलों के जीर्णोद्धार और आध्यात्मिक संवर्द्धन अभियान जनवरी 2015 में शुरू किया गया. इसके तहत 25 तीर्थस्थलों को शामिल किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi