S M L

जयललिता का अस्पताल बिल 6.85 करोड़ रुपया, खाने पर अलग से 1.17 करोड़ खर्च

जयललिता के निधन के 6 महीने बाद 15 जून, 2017 को सत्तारूढ़ एआईएडीएमके की तरफ से 6 करोड़ रुपए का भुगतान दिखाया गया है. बिल में 'फूड एंड बेवरेज सर्विस' के तहत 1 करोड़ 17 लाख से ज्यादा का खर्च भी दिखाया गया है

Updated On: Dec 19, 2018 10:11 AM IST

FP Staff

0
जयललिता का अस्पताल बिल 6.85 करोड़ रुपया, खाने पर अलग से 1.17 करोड़ खर्च

दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता का वर्ष 2016 में चेन्नई के अपोलो अस्पताल में ढाई महीने तक चले इलाज का खर्च 6 करोड़ 85 लाख रुपए आया था. उनकी मौत की परिस्थितियों की जांच कर रहे एक पैनल को हाल ही में यह जानकारी दी गई जो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

जयललिता के निधन के 6 महीने बाद 15 जून, 2017 को सत्तारूढ़ एआईएडीएमके की तरफ से 6 करोड़ रुपए का भुगतान दिखाया गया है. 13 अक्टूबर, 2016 को अस्पताल को 41.13 लाख रुपए दिए जाने का जिक्र है. हालांकि इसमें यह जिक्र नहीं है कि इस राशि का भुगतान किसने किया.

एक पन्ने के सारांश में बताया गया है कि जयललिता के इलाज का कुल खर्च 6 करोड़ और 85 लाख रुपए है. जिसमें से कि 44.56 लाख रुपया अभी बकाया है.

जब बिल के लीक होने के बारे में पूछा गया तो मामले की जांच कर रहे जस्टिस अरुमुगस्वामी कमीशन और अस्पताल के वकील दोनों ने इस बात से इनकार किया. पर अस्पताल के वकील ने कहा कि जो बिल 27 नवंबर, 2018 को पैनल के पास जमा कराया गया है वो सही है. बिल में 'फूड एंड बेवरेज सर्विस' के तहत 1 करोड़ 17 लाख से ज्यादा का खर्च दिखाया गया है. अस्पताल के वकील के मुताबिक इसमें अस्पताल आने वाले लोगों को शामिल किया गया है.

दूसरे खर्चों में 'कंसल्टेशन फी' 71 लाख रुपए है. ब्रिटेन के एक डॉक्टर रिचर्ड बेल को 92 लाख रुपए और सिंगापुर के एक अस्पताल को 1 करोड़ 29 लाख रुपए चुकाए गए हैं. बिल के मुताबिक, अस्पताल में कमरे का किराया 1 करोड़ 24 लाख रुपए है जिसमें जयललिता की देखरेख करने वालों के कमरों के किराए भी शामिल हैं.

75 दिन तक चले इलाज के बाद जयललिता का 5 दिसंबर, 2016 को निधन हो गया था. सितंबर 2017 में तमिलनाडु सरकार ने जांच के लिए एक पैनल बनाया जिससे कि अस्पताल में उनके हुए इलाज और निधन की वजहों का पता चल सके.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA
Firstpost Hindi