S M L

राजीव गांधी हत्या मामले के सात आरोपियों को रिहा किया जाए: AIADMK

जबकि बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने तमिलनाडु सरकार के इस फैसले पर आपत्ति दर्ज की है

Updated On: Sep 09, 2018 08:54 PM IST

FP Staff

0
राजीव गांधी हत्या मामले के सात आरोपियों को रिहा किया जाए: AIADMK

तमिलनाडु सरकार ने राजीव गांधी हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 7 दोषियों को रिहा करने की भी सिफारिश की है. कैबिनेट मीटिंग में हुए इस फैसले के बाद राज्य के मंत्री डी.जयकुमार ने इसकी सूचना देते हुए कहा कि सरकार जल्द ही इस सिफारिश को राज्य के राज्यपाल के पास भेजेगी.

उधर हत्या के मामले में 7 आरोपियों में से एक ए.जी पेरारिवालन की मां ने रविवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें ये भरोसा दिया है कि राज्यपाल सरकार की सिफारिश को जरूर मंजूरी देंगे और सारे आरोपियों को बरी कर दिया जाएगा.

इसके पूर्व राजीव गांधी की हत्या मामले के सात दोषियों में से एक नलिनी श्रीहरन ने तमिलनाडु सरकार और केंद्र को सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं प्रार्थना करती हूं कि केंद्र सरकार उदार होगी.

बीते गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु के गवर्नर को मामले में एक अन्य दोषी एजी पेरारीवलन की दया याचिका पर विचार करने के लिए कहा. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए, तमिलनाडु के कानून मंत्री सीवी शनमुगम ने भी कहा था कि इस मसले पर अम्मा (जयललिता) का स्टैंड भी यही था कि सातों अभियुक्तों को रिहा कर दिया जाए.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा है कि उन्हें ारोपियों के बरी होने से कोई दिक्कत नहीं है.

जबकि बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने तमिलनाडु सरकार के इस फैसले पर आपत्ति दर्ज की है. स्वामी ने कहा कि राज्य सरकार को दोबारा पूरे मामले को समझना और पुराने रिकॉर्ड को पढ़ना चाहिए. अगर वो ऐसा करेगी तो सरकार खुद ही इस प्रस्ताव को वापस ले लेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi