S M L

समुद्र किनारे सेल्फी लेना खतरनाक, गोवा सरकार ने बनाए ‘नो सेल्फी’ क्षेत्र

डूबने की घटनाओं को रोकने के लिए समुद्र किनारे ‘ नो स्वीम ’ क्षेत्र चिह्नित कर वहां लाल झंडे लगा दिए हैं

Bhasha Updated On: Jun 23, 2018 04:23 PM IST

0
समुद्र किनारे सेल्फी लेना खतरनाक, गोवा सरकार ने बनाए ‘नो सेल्फी’ क्षेत्र

गोवा में समुद्र किनारे सेल्फी लेने के दौरान डूबने की कई घटनाओं को देखते हुए राज्य की तरफ से नियुक्त जीवन रक्षक एजेंसी ने समुद्र किनारे के 24 स्थानों को ‘ नो सेल्फी ’ क्षेत्र घोषित कर दिया है. एजेंसी ने डूबने की घटनाओं को रोकने के लिए समुद्र किनारे ‘ नो स्वीम ’ क्षेत्र चिह्नित कर वहां लाल झंडे लगा दिए हैं.

सरकार की तरफ से नियुक्त निजी जीवन रक्षक एजेंसी दृष्टि मरीन के मुख्य कार्यकारी रवि शंकर ने बताया कि उत्तर गोवा के बाम्बोलिम और सिरिदाओ के बीच बागा नदी , दोना पाउला जेट्टी, सिंक्वेरिम फोर्ट, अंजुना, वागाटोर, मोरजिम, अश्वेम, आरामबोल, केरीम क्षेत्रों को ‘नो सेल्फी’ क्षेत्र के तौर पर चिह्नित किया गया है.

उन्होंने कहा कि दक्षिण गोवा में अगोन्डा, बोगमालो, होलांट, बाइना, जैपनीज गार्डन, बेतुल, कानागुइनिम, पालोलेम, खोला, काबो डे रामा, पोलेम, गलगीबाग, तालपोना और राजबाग ‘नो सेल्फी’ क्षेत्र होंगे. इन क्षेत्रों में ‘नो सेल्फी’ के साइन बोर्ड लगे होंगे. वर्तमान साइन बोर्ड का उन्नयन किया जा रहा है और तस्वीरनुमा निर्देश लगाए जा रहे हैं. इन पर टोल फ्री आपातकालीन नंबर, क्या करें और क्या नहीं करें जैसे निर्देश भी अंकित होंगे.’

एजेंसी ने परामर्श जारी कर पर्यटकों को चेताया है कि मॉनसून के दौरान (एक जून और 30 सितम्बर के बीच) समुद्र में नहीं जाएं क्योंकि समुद्र और हवा की स्थिति तैरने या जल क्रीड़ा जैसी गतिविधियों के लिए उपयुक्त नहीं होती.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi