S M L

'प्रदूषण को लेकर जागरूकता पैदा करने के लिए कदम उठाएं स्कूल'

स्कूल के प्रधानाचार्यों को भेजे गए संदेश में कहा गया है, ‘स्कूलों को छात्रों और स्टाफ के सदस्यों को विभिन्न प्रकार के प्रदूषण के बारे में जानकारी देनी चाहिए'

Updated On: Dec 16, 2017 06:03 PM IST

Bhasha

0
'प्रदूषण को लेकर जागरूकता पैदा करने के लिए कदम उठाएं स्कूल'

दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी के स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि वे विशेष सभाएं आयोजित कर और तकनीकी संगठनों और सिविल सोसायटी से विशेषज्ञों को आमंत्रित करके वायु प्रदूषण के बारे में छात्रों के बीच जागरूकता पैदा करें.

शहर में वायु प्रदूषण को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच ये निर्देश आए हैं. पिछले दिनों शहर में प्रदूषण का स्तर इस कदर बढ़ गया था कि एक सप्ताह तक स्कूल बंद करने पड़े जबकि एहतियाती कदम के तौर पर लोगों को बाहर ना निकलने की सलाह दी गई.

स्कूल के प्रधानाचार्यों को भेजे गए संदेश में कहा गया है, ‘स्कूलों को छात्रों और स्टाफ के सदस्यों को विभिन्न प्रकार के प्रदूषण के बारे में जानकारी देनी चाहिए. वायु प्रदूषण बढ़ाने के लिए जिम्मेदार कारणों और सभी लोगों खासतौर से बच्चों तथा बुजुर्गों की सेहत पर इसके नकारात्मक और गंभीर असर पर ध्यान देने के लिए कहा गया है.’

इसमें कहा गया है, ‘यह महत्वपूर्ण है कि बच्चों को ‘परिवर्तन का दूत’ माना जाए और नियमित तौर पर उन्हें जागरूक किया जाए. अकादमिक कैलेंडर के अनुसार जब भी संभव हो, सभी स्कूलों में प्रदूषण के मुद्दे पर विशेष सभाएं आयोजित की जाएं, जिनमें स्टाफ तथा तकनीकी संगठनों और सिविल सोसाइटी के सदस्यों को बुलाया जाए.’

शिक्षा निदेशालय ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के परामर्श के बाद स्कूलों को विभिन्न दिशा-निर्देश जारी किए हैं. सीपीसीबी ने प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए ग्रेडेड रिस्पॉन्स प्लान के तौर पर कई कदम उठाने की सिफारिश की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi