S M L

पद्मावत विवादः स्वरा ने भंसाली को पत्र लिख कर जताई नाराजगी

स्वरा ने भंसाली को एक खुला पत्र लिखा है. पत्र में स्वरा ने पुराने जमाने के आपराधिक रीति-रिवाजों को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाने की निंदा की है

Bhasha Updated On: Jan 28, 2018 06:16 PM IST

0
पद्मावत विवादः स्वरा ने भंसाली को पत्र लिख कर जताई नाराजगी

जानीमानी एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने ‘पद्मावत’ को लेकर फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की आलोचना की है. स्वरा को भंसाली से शिकायत है कि उन्होंने फिल्म में सती प्रथा और जौहर प्रथा को ‘‘बिना सोचे-समझे बढ़ा-चढ़ा कर’’ दिखाया है .

खबरिया वेबसाइट ‘दि वायर’ के हवाले से स्वरा ने भंसाली को एक खुला पत्र लिखा है. पत्र में स्वरा ने पुराने जमाने के आपराधिक रीति-रिवाजों को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाने की निंदा की है.

स्वरा ने कहा कि वह भंसाली का आदर करती हैं और ‘गुजारिश’ फिल्म में उनके लिए काम भी कर चुकी हैं लेकिन कानूनों पर सवाल उठाने की खतरनाक परंपरा शुरू की है. स्वरा ने लिखा, ‘‘आजाद भारत में भारतीय सती रोकथाम कानून-1988 ने सती की मदद करने, उसे उकसाने और उसे महिमामंडित करने के किसी भी स्वरूप को और बड़ा अपराध बना दिया है. आपने बगैर सोचे-समझे इस पुरुषों के वर्चस्व वाली आपराधिक प्रथा को जिस तरह महिमामंडित किया है, उस पर आपको जवाब देना चाहिए सर. टिकट खरीदकर आपकी फिल्म देखने वाली दर्शक होने के नाते मुझे आपसे पूछने का हक है कि आपने यह कैसे किया और क्यों किया.’’

सती प्रथा और रेप एक जैसी घटना

swara-2

एक्ट्रेस ने कहा कि ‘‘फिल्म के क्लाइमेक्स में दिखाया गया है कि लाल ड्रेस पहनी ढेरों महिलाएं अपनी मौत की तरफ कदम बढ़ा रही हैं. इस सीन ने पहले तो दर्शकों को अवाक कर दिया, लेकिन फिर वे इसे गौर से देखते रहे.’’ स्वरा ने कहा, ‘‘आपकी फिल्म प्रेरणा देने वाली, भावनात्मक और शक्तिशाली है. यह दर्शकों को जज्बाती उतार-चढ़ाव से भर सकता है. यह सोच को प्रभावित कर सकता है और फिल्म में आपने जो कुछ किया है और कह रहे हैं, उसके लिए आप जिम्मेदार हैं.’’ उन्होंने कहा कि सती जैसी प्रथाएं और महिलाओं से बलात्कार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘आप कहेंगे कि आपने फिल्म की शुरुआत में बता दिया था कि आपकी फिल्म सती या जौहर प्रथा का समर्थन नहीं करती.’’ स्वरा ने कहा कि ‘पद्मावत’ देखने के बाद उन्हें महसूस हुआ कि वह एक महिला के तौर पर ‘योनि मात्र’ हैं. उन्होंने कहा कि यह फिल्म महिलाओं की उपलब्धियों को कमतर करके आंकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi