S M L

‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान में सबसे आगे यूपी: मुख्य सचिव

स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत यूपी पहले, जबकि राजस्थान दूसरे और कर्नाटक तीसरे स्थान पर रहे हैं

Updated On: Oct 03, 2017 05:23 PM IST

Bhasha

0
‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान में सबसे आगे यूपी: मुख्य सचिव

पखवाड़ा भर चले ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत उत्तर प्रदेश ने 15 सितंबर से दो अक्टूबर के बीच 3,52,950 शौचालयों का निर्माण करवा कर अभियान में अव्वल स्थान पाया है.

राज्य के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने एक समीक्षा बैठक के दौरान बताया कि ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत यूपी पहले, जबकि राजस्थान दूसरे और कर्नाटक तीसरे स्थान पर रहे हैं.

इस एक पखवाड़े में देश के 34 राज्यों में 18,24,549 शौचालयों का निर्माण हुआ. इसमें से यूपी में 3,52,950, राजस्थान में 2,54,953 और कर्नाटक में 2,41,708 शौचालयों का निर्माण हुआ है.

मुख्य सचिव राजीव कुमार स्वच्छ भारत और सफाई अभियान के अंतर्गत पंचायत विभाग एवं नगर विभाग द्वारा कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि बिजनौर जिले के नगर पंचायत सहनपुर को भारत सरकार की ओर से विगत चार सितंबर को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया गया है. यह खुले में शौच से मुक्त पहला पंचायत था. प्रदेश के 12 नगर पंचायत एवं नगर निकायों को शौच से मुक्त घोषित करने का भारत सरकार से अनुरोध किया गया है. यह निकाय हैं. बिजनौर जिले के नगर पंचायत एवं नगर निकाय-बिजनौर, नजीबाबाद, स्योहारा, धामपुर, कीरथपुर, जलालाबाद, नगीना, आगरा जिले में स्वामी बाग, अमरोहा जिले में अमरोहा स्थानीय निकाय, शामली जिले में जलालाबाद और थाना भवन.

कुमार ने कहा कि काम में तेजी लाने के लिए संबंधित 25 जनपदों के जिलाधिकारियों एवं संबंद्ध अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से आगामी दो दिन के भीतर आवश्यक निर्देश देने को कहा गया है.

अपर मुख्य सचिव पंचायती राज चंचल तिवारी ने बताया कि प्रदेश के कुल 98,604 गांवों में से 12,542 गांवों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जा चुका है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi