S M L

जाधव मामला: संसद में पाक पर भड़कीं सुषमा, पढ़िए पूरी स्पीच

सुषमा ने सदन में पाकिस्तान की गंदी मंशा को उजागर किया. उन्होंने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा और पूरा सदन इस वक्त पर पाकिस्तान के खिलाफ एक हो गया

Updated On: Dec 28, 2017 12:24 PM IST

FP Staff

0
जाधव मामला: संसद में पाक पर भड़कीं सुषमा, पढ़िए पूरी स्पीच

कुलभूषण जाधव के परिवार के मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के अमानवीय व्यवहार की खबर को गुरुवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में स्पष्ट कर दिया. सुषमा ने सदन में पाकिस्तान की गंदी मंशा को उजागर किया. उन्होंने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा. और पूरा सदन इस वक्त पर पाकिस्तान के खिलाफ एक हो गया.

सुषमा की स्पीच की बड़ी बातें ये रहीं-

- सुषमा स्वराज ने अपने स्पीच की शुरूआत अप्रैल में अपने सदन के भाषण के जिक्र के साथ की. उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने कुलभूषण जाधव को पाक की ओर से सुनाए गए फांसी की सजा के मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस तक पहुंचाया, जहां भारत उनकी फांसी की सजा पर रोक लगवाने में कामयाब रहा.

- सुषमा ने कहा कि भारत सरकार जाधव की आजादी को लेकर प्रतिबद्ध है. अभी उनकी जान को कोई खतरा नहीं है और वो उनके परिवार से लगातार संपर्क में हैं.

- इसके बाद उन्होंने इस पूरे मामले में पाकिस्तान के रवैये की जमकर आलोचना की. उन्होंने कहा कि ये भेंट आगे की दिशा में बढ़ने का कदम साबित हो सकता था लेकिन पाकिस्तान ने इस मुलाकात को एक प्रोपेगेंडा के तौर पर इस्तेमाल किया. हमने इस पूरे मामले अपने रुख के प्रति पाकिस्तान को आगाह कर दिया है.

- उन्होंने इस पूरे वाकये में पाकिस्तानी मीडिया की भी आलोचना की. उन्होंने बताया कि मीडिया को परिवार के पास जाने की अनुमति नहीं थी, लेकिन जानबूझ कर ऐसी परिस्थितियां पैदा की गईं कि पाकिस्तानी मीडिया परिवार को अपने अभद्र और अमानवीय सवालों से परिवार को प्रताड़ित कर सके.

- उनकी मां-पत्नी के कपड़े बदलवाने की खबर को भी उन्होंने स्पष्ट किया. उन्होंने कहा कि परिवार से कपड़े बदलवाए गए. उनकी मां जो हमेशा साड़ी पहनती हैं, उन्हें सलवार-कमीज पहनने को मजबूर किया गया. उनकी पत्नी-मां से बिंदी, चूड़ी और मंगलसूत्र उतरवाया गया. उनकी मां ने भरे गले से सुषमा को बताया कि उन्होंने सुहाग के चिन्ह को उतारने को नहीं कहा लेकिन फिर भी सुरक्षा का हवाला देकर उनसे मंगलसूत्र उतरवा दिया गया. दोनों मां-पत्नी को एक विधवा की तरह मुलाकात करवाई गई.

- स्वराज ने बताया कि जाधव की मां ने बताया कि उन्हें बिना मंगलसूत्र और बिंदी को देखकर सबसे पहले जाधव ने उनसे पूछा कि बाबा कैसे हैं? मानो उन्हें बिना किसी सुहाग चिन्ह के देखकर उन्हें किसी अनहोनी की आशंका हो गई हो.

- पाकिस्तान ने उनकी पत्नी के जूते उतरवा दिए. ये बहुत ही एब्सर्ड बात है. उनकी पत्नी उसके पहले कई सुरक्षा चेकप्वॉइंट को क्रॉस किया था लेकिन उनके जूतों में किसी कोई गड़बड़ी नहीं नजर आई फिर ये चिप रिकॉर्डर बस पाकिस्तान को ही क्यों दिखाई दिया?

- उनकी पत्नी के मुलाकात के बाद बार-बार जूते वापस मांगने पर नहीं दिया गया. सुषमा ने ये भी कहा कि अगर पाकिस्तान को पता था कि जूतों में कोई रिकॉर्डर छुपा है, तो उसने वही मीडिया के सामने ही चिप क्यों नहीं दिखाया? उसे इस पर बाद में तमाशा करने की क्या जरूरत थी?

- स्वराज ने बताया कि उनकी मां को अपने बेटे से मराठी में बात नहीं करने दी गई. वो अपनी मातृभाषा में सहज थी लेकिन उन्हें बार-बार रोका गया लेकिन जब उन्होंने जारी रखा तो इंटरकॉम को स्विच ऑफ कर दिया गया.

- सुषमा ने कहा कि परिवार ने उन्हें ये भी बताया है कि कुलभूषण स्वस्थ नहीं लग रहे थे. और ऐसा लग रहा था कि वो स्क्रिप्टेड बातें कह रहे थे.

- सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान ने बेअदबी की इंतिहा की. सच्चाई ये है कि जाधव से जिस मानवता का नाटक करके मुलाकात कराई गई, वहां से मानवता भी गायब थी और सद्भाव भी. ये मानवता का मजाक है.

- उन्होंने आखिर में कहा कि मैं पूर्ण विश्वास के साथ कहती हूं कि सदन के साथ-साथ पूरा देश पाकिस्तान के इस अत्यंत अशिष्ट व्यवहार की निंदा करेगा.

इस पूरे मामले पर सदन ने सरकार के साथ एकजुटता दिखाई है. कांग्रेस की ओर से बोलते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा कि भारत पाकिस्तान को और पाकिस्तान की लीडरशिप को अच्छी तरह से जानता है. उन्हें लोकतंत्र पर विश्वास नहीं, भाईचारे पर विश्वास नहीं है, उन्हें हमसाए देश के साथ व्यवहार पर विश्वास नहीं है. लेकिन उसने जैसा व्यवहार कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ किया, वो महज उनके साथ नहीं देश की इज्जत के साथ किया.

कांग्रेस ने कहा कि भारत सरकार को कुलभूषण की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi