S M L

सर्जिकल स्ट्राइक पीएम मोदी का साहसिक निर्णय था: जनरल सुहाग

सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने के चलते देशभर में भारतीय सेना के शौर्य और साहस को दिखाने के लिए पराक्रम पर्व मनाया जा रहा है

Updated On: Sep 29, 2018 03:56 PM IST

FP Staff

0
सर्जिकल स्ट्राइक पीएम मोदी का साहसिक निर्णय था: जनरल सुहाग

भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान में जा कर आतंकियों और उनके ठिकानों पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक को शुक्रवार को दो साल हो गए हैं. इस मौके पर तत्कालीन सेना प्रमुख (रिटा.) जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने कुछ बातों से पर्दा उठाया है.

प्रधानमंत्री का साहसी निर्णय था: सुहाग

पूर्व सेना प्रमुख ने बताया कि उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक के पहले 23 सितंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस विकल्प के बारे में जानकारी दी थी. उन्होंने कहा, 'उचित विचार-विमर्श के बाद प्रधानमंत्री ने इस विकल्प को मंजूरी दे दी थी. हमने इसे सफलतापूर्वक पूरा किया और देश को गौरवान्वित किया.' जनरल सुहाग ने प्रधानमंत्री मोदी के निर्णय को सराहते हुए कहा, 'प्रधानमंत्री द्वारा यह एक बहुत ही साहसी निर्णय था.'

हम संदेश देना चाहते थे कि हम ऐसा भी कर सकते हैं: सुहाग

सर्जिकल स्ट्राइक के क्रियान्वन पर बात करते हुए जनरल सुहाग ने कहा, 'हम एक मजबूत संदेश (पाकिस्तान को) भेजना चाहते थे कि हम एलओसी पार कर सकते हैं. हम उन्हें मार सकते हैं, उन्हें नुकसान पहुंचा सकते हैं, और बिना किसी नुकसान के सुरक्षित वापस लौट सकते हैं.'

इस खतरनाक मिशन के बारे में पूर्व सेना प्रमुख ने कहा, 'यह एक कठिन विकल्प (सर्जिकल स्ट्राइक) था, और अधिक चुनौतीपूर्ण भी था, लेकिन हमने एक संदेश भेजने के लिए इसे अंजाम दिया. हम बताना चाहते थे कि हम ऐसा भी कर सकते हैं.'

देशभर में मनाया जा रहा है पराक्रम पर्व

सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने के चलते देशभर में भारतीय सेना के शौर्य और साहस को दिखाने के लिए पराक्रम पर्व मनाया जा रहा है. इसका मकसद लोगों में देशभक्ति जागृत करना और भारतीय सेना के पराक्रम को आम लोगों के सामने लाना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi