S M L

बहुविवाह, हलाला मामले में SC ने केंद्र और लॉ बोर्ड से मांगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में दायर याचिकाओं पर केंद्र सरकार और विधि आयोग से जवाब मांगा है

Updated On: Mar 26, 2018 03:35 PM IST

Bhasha

0
बहुविवाह, हलाला मामले में SC ने केंद्र और लॉ बोर्ड से मांगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम समाज में प्रचलित बहुविवाह और निकाह हलाला की प्रथा की संवैधानिक वैधता पर विचार के लिए सहमत होते हुए इस संबंध में दायर याचिकाओं पर केंद्र सरकार और विधि आयोग (लॉ बोर्ड) से जवाब मांगा है.

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जज ए. एम. खानविलकर और जज धनंजय वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने इस दलील को स्वीकार किया कि 5 सदस्यों वाले संविधान पीठ ने 2017 के अपने फैसले में तीन तलाक को खत्म करते हुए बहुविवाह और निकाह हलाला के मामलों को इसके दायरे से बाहर रखा था.

पीठ ने सोमवार को कहा कि 5 सदस्यों वाली नई संविधान पीठ का गठन किया जाएगा जो बहुविवाह और निकाह हलाला के मामले पर गौर करेगी.

बहुविवाह जहां मुस्लिम पुरूषों को एक समय में एक से अधिक महिलाओं से विवाह करने की अनुमति देता है. वहीं निकाह हलाला ऐसी प्रथा है जिसमें पति द्वारा तलाक दिए जाने पर यदि दोनों फिर से निकाह करना चाहतें हैं तो तलाक देने वाले पति से दोबारा शादी करने से पहले मुस्लिम पत्नी को किसी अन्य व्यक्ति से विवाह कर के उससे तलाक लेना होता है.

5 सदस्यों वाले संविधान पीठ ने 3:2 के बहुमत से अपने फैसले में तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया था.

सुप्रीम कोर्ट इन प्रथाओं को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी. इनमें समता के अधिकार का हनन और लैंगिक न्याय सहित अनेक मुद्दे उठाये गए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi