S M L

'मैं जयललिता की बेटी हूं, मेरा डीएनए टेस्ट करवा लीजिए'

अमृता ने याचिका में मांग की है कि उसका डीएनए टेस्ट करवाया जाए. हालांकि सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका पर सुनवाई करने से इंकार कर दिया है

Updated On: Nov 27, 2017 02:50 PM IST

FP Staff

0
'मैं जयललिता की बेटी हूं, मेरा डीएनए टेस्ट करवा लीजिए'

तमिलनाडु में एक औरत ने दावा किया है कि वो जयललिता की बेटी है. 37 साल की अमृता उर्फ मंजुला ने इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में 22 नवंबर को एक याचिका दायर किया था.

अमृता ने याचिका में मांग की है कि उसका डीएनए टेस्ट करवाया जाए. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका पर सुनवाई करने से इंकार कर दिया है.

अमृता का कहा है कि जयललिता की बड़ी बहन शैलजा ने उसे पाला है. उसने कहा कि इस संबंध में उसने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, सुप्रीम कोर्ट और सीबीआई से भी मदद मांगी. लेकिन अभी तक कोई परिणाम नहीं मिला है.

याचिका दायर करनेवालों में अमृता की दो बहनों एलएस ललिता और रजनी रवींद्रनाथ भी शामिल हैं.

मरते वक्त पिता ने बताई थी ये बात 

अमृता ने बताया कि 14 अगस्त 1980 को जयललिता के माइलापुर स्‍थित घर में उसका जन्म हुआ था. जिस समय उनका जन्‍म हुआ, उस समय जयललिता की शादी नहीं हुई थी.

इसलिए इस बात को परिवार के लोगों ने हमेशा छुपाकर रखा. जयललिता की खुशी के लिए उनकी मौसी शैलजा ने अमृता को पाला. शैलजा का निधन साल 2015 में हो गया था. वहीं पिता सारथी का भी इसी साल मार्च में निधन हो चुका है. उन्होंने ही आखिरी वक्त में ये बताया कि उनके और जयललिता के संबंध से उसका जन्म हुआ था.

अमृता ने याचिका में अदालत से अपनी मां के शव की भी मांग की है, जो चेन्‍नई के मरीना तट पर दफन है. अमृता ने कहा है कि क्‍योंकि वह एक वैष्णव ब्राह्मण परिवार से ताल्‍लुक रखती हैं इसलिए उनका अंतिम संस्‍कार भी उसी परंपराओं के मुताबिक होना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi