S M L

रेप और हत्या के दोषी की फांसी पर SC ने लगाई रोक, बच्ची से की थी हैवानियत

आरोपी को सबसे पहले शहडोल की जिला अदालत ने फांसी की सजा सुनाई थी जिसे मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने भी बरकरार रखा था

Updated On: Sep 18, 2018 07:58 PM IST

FP Staff

0
रेप और हत्या के दोषी की फांसी पर SC ने लगाई रोक, बच्ची से की थी हैवानियत

मध्य प्रदेश में चार साल की बच्ची से किए गए रेप और हत्या के दोषी की मौत की सजा पर सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम रोक लगा दी है. इस मामले में कोर्ट ने एमपी सरकार को नोटिस जारी किया है और जवाब मांगा है.

बता दें कि आरोपी को सबसे पहले शहडोल की जिला अदालत ने फांसी की सजा सुनाई थी जिसे मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने भी बरकरार रखा था. इस मामले में दोषी विनोद ने 4 साल की बच्ची के साथ 13 मई 2017 को रेप किया था.

रेप करने के बाद विनोद ने बच्ची की हत्या कर दी थी. इस मामले में विनोद को निचली अदालत ने 28 फरवरी 2018 को फांसी की सजा सुनाई थी. इस सजा के खिलाफ विनोद हाईकोर्ट गया लेकिन वहां पर भी सजा को बरकरार रखा गया.

फिर इस मामले को सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लाया गया. जहां फांसी पर रोक लगा दी गई. आरोपी की उम्र 26 साल है. इस मामले में मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने कहा था कि इस अपराधी के लिए मौत के अलावा कोई सजा नहीं हो सकती.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi