S M L

पटाखों पर 'सुप्रीम' फैसला, दिल्ली-NCR में केवल बेचे जाएं Green Crackers

कोर्ट ने तमिलनाडु, पुडुचेरी और अन्य दक्षिणी राज्यों में त्योहारों के मौसम में पटाखे केवल तड़के सुबह 4 से 5 बजे और रात के 9 से 10 के बीच एक-एक घंटे के लिए ही चलाने की इजाजत दी है

Updated On: Oct 31, 2018 03:19 PM IST

FP Staff

0
पटाखों पर 'सुप्रीम' फैसला, दिल्ली-NCR में केवल बेचे जाएं Green Crackers

सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण पर सख्त रुख अपनाते हुए स्पष्ट किया कि दिल्ली-एनसीआर में ग्रीन पटाखों (हरित पटाखों) के अलावा किसी और तरह के पटाखे नहीं बेचे जा सकेंगे.

बुधवार को जस्टिस एके सिकरी और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच ने कहा कि त्योहार के इस सीजन में जो पटाखे पहले से बनाए जा चुके हैं उन्हें देश के अन्य हिस्सों में बेचा जाए.

कोर्ट ने कहा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और अन्य दक्षिणी राज्यों में त्योहारों के मौसम में पटाखे केवल तड़के सुबह 4 से 5 बजे और रात के 9 से 10 के बीच एक-एक घंटे के लिए ही चलाए जाएं.

कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा कि सामुदायिक रूप से पटाखे फोड़ने के संबंध में उसका निर्देश पूरे देश में दो घंटे के लिए लागू होगा. न्यायालय ने कहा कि ई-कॉमर्स वेबसाइटों (ऑनलाइन) के माध्यम से पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध देश भर में लागू है.

दरअसल पूरा दिल्ली-एनसीआर इस समय बेहद गंभीर वायु प्रदूषण से जूझ रहा है. यहां की आबो-हवा बेहद जहरीली हो चुकी है. इसका सबसे ज्यादा असर बच्चों, बुजुर्गों और बीमार लोगों में सांस जनित बीमारियों में इजाफा हुआ है. डॉक्टरों ने ऐसे सभी लोगों को घर से बाहर गैर जरूरी काम और टहलने के मना किया है. वायु प्रदूषण की इस खतरनाक स्थिति को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों को लेकर यह सख्ती बरती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi