S M L

कुंभकोणम हादसा: सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ितों के वकील को 50 लाख जमा करने का दिया आदेश

16 जुलाई 2004 को कुंभकोणम के श्रीकृष्ण स्कूल में लगी आग में 94 बच्चों की मौत हो गई थी. कोर्ट के आदेश पर सरकार ने पीड़ित परिवारों के लिए मुआवजे की घोषणा की थी

FP Staff Updated On: Jun 03, 2018 06:13 PM IST

0
कुंभकोणम हादसा: सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ितों के वकील को 50 लाख जमा करने का दिया आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु के कुंभकोणम में आग हादसे के पीड़ितों के वकील को 50 लाख रुपए जमा करने का आदेश दिया है. इस वकील पर आग के शिकार परिवारों को ठगने का आरोप लगा है, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने यह आदेश दिया. कोर्ट का कहना है कि इस पैसे का इस्तेमाल उन परिवारों को मुआवजा देने के लिए किया जाएगा, जिनके बच्चे इस घटना में मारे गए.

दरअसल, 16 जुलाई 2004 को कुंभकोणम के श्रीकृष्ण स्कूल में लगी आग में 94 बच्चों की मौत हो गई थी. कोर्ट के आदेश पर सरकार ने पीड़ित परिवारों के लिए मुआवजे की घोषणा की थी.

लेकिन इस साल मार्च में कम से कम 49 याचिकाएं हाईकोर्ट में पीड़ित परिवारों द्वारा दायर की गई थीं जिसमें आरोप लगाया गया था कि उनके वकील तमिलरासन ने सरकार द्वारा दिए गए मुआवजे को अपने व अपने रिश्तेदारों की बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिया था. याचिका में तमिलरासन के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ साथ पैसे को वापस लौटाने की मांग की गई थी.

पिछले महीने मद्रास हाईकोर्ट ने मामले में सीबी-सीआडी जांच का आदेश दिया था. कोर्ट ने सीबी-सीआईडी को कहा कि तमिलरासन उनकी पत्नी व उनके रिश्तेदारों के उन खातों को अटैच कर लिया जाए जिसमें कथित रूप से पैसे ट्रांसफर किया गये थे. हाइकोर्ट ने तमिलनाडु बार काउंसिल को भी आदेश दिया कि जब तक तमिलरासन के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं हो जाती तब तक उनके प्रैक्टिस करने पर रोक लगा दी जाए.

लेकिन एडवोकेट तमिलरासन ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की और कहा कि उन्होंने कोई फ्रॉड नहीं किया है. उनका कहना था कि वो पैसे उनकी फीस के लिए ट्रांसफर किए गए थे. पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उसे सिर्फ इस बात की चिंता है कि पीड़ितों को मुआवज़ा मिला कि नहीं. कोर्ट ने कहा कि अगर आप चाहते हैं कि आपके खिलाफ जांच रोक दी जाए और फिर से प्रैक्टिस करने की अनुमति दे दी जाए तो आप 50 लाख रुपये हाईकोर्ट में जमा करा दें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi