S M L

वकील ने बताया, एसबीआई को 4 दिन पहले पता था देश छोड़कर भागने वाला है विजय माल्या

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील दुष्यंत दवे ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को सलाह दी थी कि वह विजय माल्या को विदेश जाने से रोका जा सकता है

Updated On: Sep 14, 2018 09:59 AM IST

FP Staff

0
वकील ने बताया, एसबीआई को 4 दिन पहले पता था देश छोड़कर भागने वाला है विजय माल्या

भारत से भागे हुए शराब कारोबारी विजय माल्या के एक बयान ने देश की राजनीतिक पार्टियों से लेकर बैंक क्षेत्र में हड़कंप मचा दिया है. विजय माल्या द्वारा भारत छोड़ने से पहले केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से अपनी मुलाकात का दावा करने के बाद ही ये सब हो रहा है. विजय माल्या के इस बयान को लेकर एक तरफ जहां विपक्ष बीजेपी पर निशाना साध रही है तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी अपने आप को बचाते हुए विजय माल्या के बयान से साफ मुकर गई है। वहीं अब विजय माल्या को लेकर एक और बड़ी बात सामने आ रही है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील दुष्यंत दवे ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को सलाह दी थी कि विजय माल्या को विदेश जाने से रोका जा सकता है. हालांकि उस समय एसबीआई ने कानूनी सलाह पर कोई कार्रवाई नहीं की थी.

एसबीआई को माल्या का पासपोर्ट रद्द करने की दी थी सलाह

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि उन्होंने एसबीआई प्रबंधन के शीर्ष अधिकारी से मिलकर उन्हें यह बताया था कि विजय माल्या भारत से भाग सकता है. उन्होंने बताया कि एसबीआई के शीर्ष अधिकारी से उनकी मुलाकात रविवार 28 फरवरी, 2016 को हुई थी. दरअसल, दवे ने एसबीआई को माल्या का पासपोर्ट रद्द करने की सलाह दी थी. उन्होंने एसबीआई से कहा था कि वो सोमवार को एसबीआई का दरवाजा खटखटा सकते है. इसके अलावा दवे ने बताया कि एसबीआई अध्यक्ष और कई शीर्ष अधिकारी इस बैठक और उनके द्वारा दी गई इस सलाह के बारे में जानते थे. हालांकि इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसके 4 दिन बाद माल्या ने देश छोड़ दिया.

एसबीआई ने दी अपनी तरफ से सफाई

विजय माल्या के देशे छोड़ने के मामले में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील के दावे पर एसबीआई ने भी अपनी तरफ से सफाई दी है. एसबीआई की अध्यक्ष अरुंधती भट्टाचार्य ने मीडिया से बातचीत में बताया कि दवे कह सकते हैं जो भी उन्हें कहना है. मैं अब एसबीआई के साथ नहीं हूं और आप वर्तमान एसबीआई प्रबंधन से प्रतिक्रियाओं के लिए संपर्क कर सकते हैं. वहीं एसबीआई की तरफ से एक प्रवक्ता ने कहा है कि किंगफिशर एयरलाइंस समेत लोन के सभी डिफॉल्ट मामलों से निपटने में बैंक या किसी अधिकारी द्वारा लापरवाही बरती नहीं गई है. अगर ऐसा हुआ है तो इस पर उचित कार्रवाई होगी.

5 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में हुई थी याचिका दर्ज

वहीं दवे ने कहा कि एसबीआई के कानूनी सलाहकार एसबीआई के चार शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के लिए आए थे. बैठक में इस बात पर सहमति हुई कि विजय माल्या को देश छोड़ने से रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट से आदेश लेने के लिए वह लोग सोमवार सुबह मिलेंगे लेकिन एसबीआई के अधिकारी सोमवार नहीं आए. आखिरकार जब विजय माल्या देश से भागने में कामयाब हो गया तो एसबीआई के नेतृत्व वाले 17 बैंकों ने 5 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi