In association with
S M L

SC जज पीसी: विवाद सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के जजों से मिलेंगे बार काउंसिल के सदस्य

जजों ने कहा- लोकतंत्र खतरे में, मीडिया से बात करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा था.

FP Staff | January 14, 2018, 11:09 AM IST

0

हाइलाइट

Jan 14, 2018

  • 10:53(IST)

    जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस से शुरू हुए विवाद को देख रहे तमाम लोगों के सामने जाहिर हो चला है कि सुप्रीम कोर्ट के आगे अब यह गुंजाइश नहीं रही कि मामले में रुचि ले रहे अवाम के लिए अपने खिड़की-दरवाजे फिर से बंद कर ले

  • 09:52(IST)

    आज बार काउंसिल की 7 सदस्यों की टीम सुप्रीम कोर्ट के जजों से मुलाकात करेगी. बार काउंसिल के चेयरमैन मनन शर्मा ने शनिवार को कहा था कि यह मुद्दा सुप्रीम कोर्ट का है इसलिए सुप्रीम कोर्ट जजों से ही मुलाकात की जाएगी. इस मीटिंग में अन्य किसी कोर्ट के जज मौजूद नहीं होंगे. 

  • 19:48(IST)

    4 जजों द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस पर तहसीन पूनावाला ने कहा 'मैं जस्टिस लोया केस में मुख्य याचिकाकर्ता हूं. मैं बिल्कुल साफ कर दूं, मैं सुप्रीम कोर्ट न्याय के लिए गया था. मुझे आज भी कोर्ट में पूरा भरोसा और विश्वास है. हमें चार जजों को गंभीरता से लेना चाहिए.'

  • 18:07(IST)

    बार काउंसिल के चेयरमैन ने कहा 'हमारी न्यायपालिका के लिए यह दुर्भाग्य का विषय है कि नेता हमारे बारे में चर्चा कर रहे हैं. न्याय प्रणाली पर लोगों का जो विश्वास है हमारी कोशिश है कि वह विश्वास बना रहे. यह मुद्दा मीडिया में आया इसके बाद ही राजनीति में इसे घसीटा गया यह बेहद शर्मनाक है.'

  • 18:05(IST)

    शर्मा ने कहा 'कल सुबह 9 बजे से मीटिंग शुरू होगी. 11-12 बजे तक हम उनसे मिल लेंगे. इसमें सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के जज शामिल होंगे क्योंकि यह बाहर का मुद्दा नहीं है.'

  • 18:03(IST)

    पीएम मोदी के प्रधान सचिव पर पूछ गए सवाल पर शर्मा ने कहा 'नृपेंद्र मिश्रा जी ने साफ कर दिया है कि मैं CJI से मिलने नहीं गया था. मैं उनके घर के बाहर से निकल रहा था. इसलिए इसपर बोलना व्यर्थ है.'

  • 18:03(IST)

    बार काउंसिल के चेयरमैन मनन शर्मा ने कहा '7 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल कल जजों से मिलेगा. हमने जजों से समय ले लिया है. हम इस झगड़े को खत्म करने की मांग करेंगे. हम नहीं चाहते हैं कि हमारी न्यायपालिका की छवि धूमिल हो.'

  • 17:41(IST)

    जब जस्टिस रंजन गोगोई से पूछा गया कि उनके द्वारा किया गया कार्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है तो उन्होंने कहा 'नहीं इसमें कुछ गलत नहीं है'

  • 17:28(IST)

    बार काउंसिल ऑफ इंडिया के 7 सदस्य सुप्रीम कोर्ट के बाकी के जजों से इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए रविवार को मुलाकात करेंगे.

  • 17:25(IST)
  • 17:22(IST)

    इसी बीच खबर यह आ रही है कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया की होने वाली आज की बैठक भी शुरू हो चुकी है. काउंसिल के अध्यक्ष मनन मिश्र ने जानकारी दी थी कि वो इस मुद्दे पर दो दिन बैठक करेंगे.

  • 17:21(IST)

    बार काउंसिल ऑफ इंडिया का सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल चीफ जस्टिस से मिलने के लिए समय मांगा है. कल हो सकती है मुलाकात

  • 17:17(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के चार जजों द्वारा शुक्रवार को प्रेस किए जाने के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने बैठक बुलाई है. मिली जानकारी के मुताबिक बैठक शुरू हो चुकी है.

  • 13:24(IST)

    रोस्टर के मुद्दे पर पीसी करना दुखदः बार काउंसिल ऑफ इंडिया

    बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने कहा है कि रोस्टर के एक मामूली मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करना दुखद है. उन्होंने कहा कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया और हमारे प्रतिनिधिमंडल की शनिवार और रविवार को शाम पांच बजे बैठक है.

    उन्होंने कहा कि वे वरिष्ठ न्यायाधीशों, सीजेआई और अन्य न्यायाधीशों से मिलेंगे और उनसे अनुरोध करेंगे कि ऐसे मुद्दों को जनता में ले के न जाएं.

  • 13:16(IST)

    बीजेपी प्रवक्ता पी मुरलीधर राव ने कहा है कि एक संस्थान के रूप में सुप्रीम कोर्ट भारत के लोकतांत्रिक ढांचे के लिए बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण है. अभी सुप्रीम कोर्ट में कुछ समस्या है जो आंतरिक और संस्थागत है. देश हित में कांग्रेस को इस मुद्दे में नहीं पड़ना चाहिए.

  • 13:11(IST)

    सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट की स्वतंत्रता संविधान का महत्वपूर्ण आधार है.

  • 13:09(IST)
  • 13:07(IST)

    देश का लोकतंत्र खतरे मेंः पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा

    पत्रकारों से बात करते हुए, पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने संसद के शीतकालीन सत्र के छोटे होने को लेकर केंद्र सरकार पर हमला किया और कहा कि यदि देश की संसद सही ढंग से काम नहीं कर रही, सुप्रीम कोर्ट सही से नहीं काम कर रहा, देश में लोकतंत्र खतरे में है.

    उन्होंने कहा कि अगर चार वरिष्ठ न्यायाधीशों ने सार्वजनिक तौर पर सब कह दिया है, तो अब यह केवल सुप्रीम कोर्ट का मामला नहीं रहा. अगर आप पत्र पढ़ेंगे तो पता चलेगा कि कैसे मामलों की सुनवाई और बेंच में जजों की नियुक्तियां हुईं.

    उन्होंने कहा कि जिन्हें भी देश और लोकतंत्र के भविष्य की चिंता है, उन्हें अपनी आवाज उठानी चाहिए.

  • 12:49(IST)

    सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा है कि सीजेआई के महाभियोग का कोई सवाल नहीं उठता है.

    सुप्रीम कोर्ट के चार सिटिंग जजों द्वारा शुक्रवार को की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद चीफ जस्टिस पर महाभियोग चालए जाने को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने खारिज कर दिया है. बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा कि महाभियोग चलाने का कोई सवाल ही नहीं उठता है.

    न्यूज-18 से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह से प्रेस में जाने से बेहतर आप इसे सिस्टम के भीतर ही संबोधित करते. आप प्रेस कॉन्फ्रेंस कुछ बताने के लिए जाते हैं लेकिन यह प्रेस कॉन्फ्रेंस छिपाने के लिए किया गया.

  • 12:38(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के चार जजों का खुलेआम चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के खिलाफ मोर्चा खोलने से पूरा देश सन्न है. अब सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने भी जजों के आरोपों को लेकर शनिवार को मीटिंग बुलाई है.

    सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विकास सिंह का कहना है, "चार जज मीडिया के सामने आए तो सही, लेकिन कोई मुद्दा लेकर नहीं आए. उन्होंने बस कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कुछ गड़बड़ है. कैसा गड़बड़ है? असली बात क्या है? चारों जजों ने इसपर कोई बात नहीं की. उन्होंने लोगों को जूडिशरी को लेकर एक तरह सस्पेंस में डाल दिया. इन चारों जजों ने जस्टिस लोया को लेकर भी कुछ नहीं कहा."

  • 12:37(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र से मिलने से इनकार कर दिया है. न्यूज18 के मुताबिक, प्रधान सचिव चीफ जस्टिस के आवास से वापस लौट आए हैं. दूसरी ओर, यह भी कहा जा रहा है कि सरकार ने जजों के इस अंदरूनी मामले में दखल नहीं देने का फैसला किया है.

  • 12:30(IST)

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा से मिलने दिल्ली स्थित उनके आवास पहुंचे.

  • 19:56(IST)

    मुझे लगता है कि भारत का हर नागरिक जिसे न्याय प्रणाली पर भरोसा है वे इस मामले पर गंभीरता से नजर रख रहे हैं. पूरा हिंदुस्तान इस लीगल सिस्टम पर भरोसा करता है: राहुल गांधी

  • 19:55(IST)

    हम सब का कानून पर भरोसा है, आज कानून पर सवाल उठे हैं इसलिए इस मामले की जांच जरूरी है: राहुल गांधी

  • 19:52(IST)

    जिन लोगों को न्याय पर भरोसा है वो इस मामले को देख रहे हैं: राहुल गांधी

  • 19:50(IST)

    जजों का आरोप बेहद अहम है. जजों ने जो सवाल उठाएं हैं उसका निपटारा होना चाहिए: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

  • 19:48(IST)

    जज विवाद का लोकतंत्र पर दूरगामी असर होगा: कांग्रेस

  • 19:47(IST)
  • 19:47(IST)

    सुप्रीम कोर्ट का जो ये मामला सामने आया है, उसे गंभीरता से देखने की जरूरत है. ऐसा होना लोकतंत्र के लिए खतरा है: राहुल गांधी

  • 19:46(IST)

    राहुल गांधी ने कहा कि ये पहली बार हुआ है जब सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया के सामने अपनी बात रखी हो.

SC जज पीसी: विवाद सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के जजों से मिलेंगे बार काउंसिल के सदस्य

सुप्रीम कोर्ट के चार सिटिंग जज मीडियो को संबोधित करने वाले है. सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में ऐसा कुछ पहली बार होने जा रहा है. जे. चेलमेश्वर समेत सुप्रीम कोर्ट के 4 जज 12.15 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. जस्टिस गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस जोसफ भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद रहेंगे. बताया जा रहा है कि ये पीसी कोलेजियम के फैसले को लेकर की जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जापानी लक्ज़री ब्रांड Lexus की LS500H भारत में लॉन्च

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi