S M L

आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का कुछ हद तक स्वागत: मायावती

मायावती ने कहा कि बेहतर होगा कि केंद्र सरकार संविधान संशोधन पारित कराए, ताकि इस मुद्दे का हमेशा के लिए समाधान हो जाए

Updated On: Sep 26, 2018 09:19 PM IST

Bhasha

0
आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का कुछ हद तक स्वागत: मायावती

बुधवार को बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कर्मचारियों को पदोन्नति में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का कुछ हद तक स्वागत है. शीर्ष अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया में मायावती ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है और केंद्र और राज्य सरकारों से इसे लागू करने को कहा गया है.

उन्होंने कहा कि राज्यों के लिए ऐसी कोई शर्त नहीं है कि वे पिछडे़पन के आंकडे़ इकट्ठे करें. जैसा 2006 में था. राज्यों को यह फैसला सकारात्मक रूप से लेना चाहिए. मायावती ने कहा कि हमने लगातार संविधान संशोधन की बात की है. जिसे राज्यसभा ने पारित कर दिया था लेकिन अफसोस की बात है कि खुद को अनुसूचित जाति एवं जनजाति का हितैषी बताने वाली बीजेपी ने चार साल बीत जाने पर भी इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की.

उन्होंने केंद्र सरकार से कहा कि अगर वह खुद को वास्तव में अनुसूचित जाति एवं जनजाति का हितैषी मानती है. तो उसे राज्यों और संबद्ध विभागों को पत्र भेजकर कहना चाहिए कि वे इस फैसले को सकारात्मक ढंग से लें और इसका कार्यान्वयन करें. मायावती ने कहा कि बेहतर होगा कि केंद्र सरकार संविधान संशोधन पारित कराए, ताकि इस मुद्दे का हमेशा के लिए समाधान हो जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi