S M L

पत्नी को जबरन अपने साथ नहीं रख सकता पति: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले में फैसला सुनाते हुए कहा, 'पत्नी कोई 'चल संपत्ति' या 'वस्तु' नहीं है. पति उसे अपने साथ रहने के लिए मजबूर नहीं कर सकता'

Bhasha Updated On: Apr 08, 2018 01:56 PM IST

0
पत्नी को जबरन अपने साथ नहीं रख सकता पति: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा है कि पत्नी के इजाजत के बिना पति उसे अपने साथ रहने के लिए मजबूर नहीं कर सकता. अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा, 'पत्नी कोई 'चल संपत्ति' या 'वस्तु' नहीं है. पति उसे जबरन अपने पास नहीं रख सकता.'

यह फैसला सुप्रीम कोर्ट ने एक महिला की तरफ से अपने पति के खिलाफ दायर आपराधिक केस की सुनवाई के दौरान सुनाया. महिला ने अपने आरोप में कहा था कि पति चाहता है कि वह उसके साथ रहे लेकिन वह खुद उसके साथ नहीं रहना चाहती है.

जज मदन बी लोकुर और जज दीपक गुप्ता की पीठ ने अदालत में मौजूद शख्स से कहा, ‘वह एक चल संपत्ति नहीं है. आप उसे मजबूर नहीं कर सकते. वह आपके साथ नहीं रहना चाहती हैं. आप कैसे कह सकते हैं कि आप उसके साथ रहेंगे.’

अदालत ने उससे कहा, ‘आपके लिए इस पर पुनर्विचार बेहतर होगा.’

कोर्ट ने पूछा, ‘आप इतना गैर-जिम्मेदार कैसे हो सकते हैं? महिला के साथ चल संपत्ति की तरह व्यवहार कर रहे हैं. वह एक वस्तु नहीं है.’

इस मामले की अगली सुनवाई 8 अगस्त को होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi