S M L

SC-HC जजों का वेतन हो रहा है दोगुना, जानिए, किसकी सैलरी कितनी

2016 में तत्‍कालीन मुख्‍य न्‍यायाधीश टीएस ठाकुर ने सरकार को पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों का वेतन बढ़ाने की मांग की थी.

Updated On: Jan 05, 2018 12:04 PM IST

FP Staff

0
SC-HC जजों का वेतन हो रहा है दोगुना, जानिए, किसकी सैलरी कितनी

सुप्रीम कोर्ट और 24 हाईकोर्ट के जजों का वेतन बढ़ाने संबंधी बिल को गुरुवार को लोकसभा की मंजूरी मिल गई. इस बिल के पास होने के बाद जजों के वेतन में दोगुना से अधिक वृद्धि हो जाएगी.

संसद के दोनों सदनों से यह बिल पास होने और कानून बनने के बाद भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश को हर माह 2.80 लाख रुपए का वेतन मिलेगा. आपको बता दें कि फिलहाल उन्‍हें एक लाख रुपए मासिक वेतन दिया जाता है.

वहीं, सुप्रीम कोर्ट के जजों और हाई कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीशों को प्रति माह 2.50 लाख रुपए वेतन मिलेगा, जो कि अभी 90,000 रुपए है. 2016 में तत्‍कालीन मुख्‍य न्‍यायाधीश टीएस ठाकुर ने सरकार को पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों का वेतन बढ़ाने की मांग की थी.

अब राज्यसभा से मंजूरी का इंतजार

- शुक्रवार को शीतकालीन सत्र का आखिरी दिन है.

- यदि यह बिल राज्‍य सभा द्वारा पास नहीं किया जाता है तो जजों को अपनी वेतनवृद्धि के लिए बजट सत्र तक इंतजार करना होगा, जो कि 30 जनवरी से शुरू होगा.

- हाईकोर्ट के जजों को अभी 80,000 रुपए मासिक वेतन मिलता है. - बिल पास होने के बाद उन्‍हें हर माह 2.25 लाख रुपए वेतन मिलेगा.

मिलेगा हाउस रेंट अलाउंस

- यह वेतन बढ़ोत्तरी ऑल इंडिया सर्विसेस के अधिकारियों के लिए सातवें वेतन आयोग द्वारा की गई सिफारिश के मुताबिक है.

- यह वेतन बढ़ोत्तरी 1 जनवरी 2016 से प्रभावी होगी.

- हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट न्‍यायाधीश (वेतन और सेवा की शर्तें) संशोधन बिल 2017 में हाउस रेंट अलाउंस को भी 1 जुलाई 2017 से संशोधित करने की बात कही गई है.

देश के 24 हाईकोर्ट में कुल 682 जज है

- 31 स्‍वीकृत पदों के मुकाबले सुप्रीम कोर्ट में अभी 25 जज हैं.

- हाई कोर्ट में जजों के लिए 1079 पद मंजूर किए गए हैं.

- देश के 24 हाई कोर्ट में केवल 682 जज ही काम कर रहे हैं, शेष पद रिक्‍त पड़े हुए हैं.

- इस बिल के पास होने से 2500 रिटायर्ड जजों को भी फायदा होगा.

(साभार न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi