live
S M L

नक्सली हमला: आज तक के सबसे बड़े हमले, जिसने देश को झकझोर दिया

हम आपको बताते हैं कि पिछले कुछ सालों में कितने जवान और किस-किस जगह शहीद हुए हैं

Updated On: Apr 25, 2017 11:20 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
नक्सली हमला: आज तक के सबसे बड़े हमले, जिसने देश को झकझोर दिया

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले ने देश को हिला कर रख दिया है. इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए हैं.

केंद्र सरकार नक्सलियों के खिलाफ एक बार फिर से जबरदस्त ऑपरेशन शुरू करने की तैयारी कर सकती है.

25 सीआरपीएफ जवानों की मौत ने सरकार की नीतियों पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं. पिछले 10-12 सालों में नक्सलियों ने कई जवानों को मौत के घाट उतारा है. हम आपको बताते हैं कि पिछले कुछ सालों में कितने जवान और किस-किस जगह शहीद हुए हैं.

24 अप्रैल 2017 को छत्तीसगढ़ के सुकमा में 25 सीआरपीएफ के जवान नक्सलियों के हमले का शिकार हुए.

1 दिसंबर 2014 छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के 233 बाटलियन पर हमला किया था जिसमें 13 जवानों की मौत हो गई थी.

11 मार्च 2014 ओडिशा के टाहकवाड़ा में सीआरपीएफ टीम पर हमला होने से 16 जवान शहीद हो गए थे.

11 मार्च 2014 छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 15 जवान शहीद हो गए थे.

8 फरवरी 2014 छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों के हमले में एक थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी.

2 जुलाई 2013 नक्सलियों ने झारखंड के दुमका में हमला किया था. जिसमें पाकुड़ के एसपी सहित चार पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी.

25 मई 2013 छत्तीसगढ़ के दारबा घाटी में नक्सलियों के हमले में कांग्रेस के 25 नेताओं की मौत हो गई थी. छत्तीसगढ़ सरकार के पूर्व मंत्री महेंद्र कर्मा और उनके एक बेटे, छत्तीसगढ़ कांग्रेस के तात्कालिक अध्यक्ष नंद कुमार पटेल और कांग्रेस के दिग्गज नेता विद्याचरण शुक्ल की मौत हो गई थी.

18 अक्टूबर 2012 बिहार के गया में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के आठ जवानों की हत्या कर दी थी. मरने वालों में से एक सीआरपीएफ का कमांडेंट भी था.

29 जून 2010 छत्तीसढ़ के नारायणपुर में एक नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हुए थे.

8 मई 2010 छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों ने एक बुलेटप्रूफ गाड़ी को उड़ा दिया जिसमें सीआरपीएफ के आठ जवान शहीद हो गए थे.

6 अप्रैल 2010 दंतेवाड़ा के ताड़मेटला में सीआरपीएफ पर सबसे बड़ा हमला हुआ था. हमले में सीआरपीएफ के 75 और राज्य पुलिस का एक जवान शहीद हो गया था.

4 अप्रैल 2010 नक्सलियों ने ओडिशा के कोरापुट जिले में लैंडमाइंस ब्लास्ट किया, जिसमें 11 जवानों की मौत हो गई.

15 फरवरी 2010 पश्चिम बंगाल के सियालदह में नक्सलियों ने ईस्टर्न फ्रंटियर राइफल्स के 25 जवानों की हत्या कर दी.

8 अक्टूबर 2009 महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सली हमले में 17 पुलिमकर्मियों की मौत हो गई थी.

26 सितंबर 2009 छत्तीसगढ़ में जगदलपुर के पारीगुडा में बालाघाट के बीजेपी सांसद बलिराम कश्यप के बेटों की नक्सलियों ने हत्या कर दी.

12 जुलाई 2009 छत्तीसगढ़ के राजनांद गांव में नक्सलियों के हमले में 29 जवान शहीद हो गए थे.

16 जून 2009 झारखंड के पलामू के बेहरखंड में नक्सलियों के लैंडमाइंस ब्लास्ट में 11 पुलिसर्मियों की मौत हो गई.

13 जून 2009 झारखंड के बोकारो में दो लैंडमाइंस ब्लास्ट हुए, जिसमें 20 पुलिसकर्मी की मौत हो गई थी.

10 जून 2009 झारखंड में सारंडा के जंगलों में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 9 जवान शहीद हो गए थे.

22 मई 2009 महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों ने 16 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया था.

13 अप्रैल 2009 ओडिशा में ही एक हमले में अर्धसैनिक बलों के 10 जवान शहीद हो गए थे.

16 जुलाई 2008 ओडिशा के ही मलकानगिरी जिले में नक्सलियों ने पुलिस की गाड़ी को उड़ा दिया, जिसमें 21 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे.

29 जून 2008 ओडिशा के बालिमाला में सीआरपीएफ के जवान नदी पार कर रहे थे. जवानों से भरी नाव जब बीच नदी में पहुंची तो नक्सलियों ने हमला बोल दिया. इस हमले में सीआरपीएफ के 38 जवान शहीद हो गए थे.

अगस्त 2007 छत्तीसगढ़ के तारमेटला में छत्तीसगढ़ पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में 12 जवान शहीद हो गए थे.

जुलाई 2007 छत्तीसगढ़ के एर्राबोर के उरपलमेटा में नक्सलियों ने 23 सुरक्षाकर्मियों का मार दिया था.

सितंबर 2005 छत्तीसगढ़ के बीजापुर के गंगालूर रोड पर एंटी लैंडमाइन ब्लास्ट में 23 जवान शहीद हो गए थे. जवानों को ले जा रही गाड़ी पर नक्सलियों ने हमला किया था.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi