S M L

इग्नू के इंतजार में ठंडे बस्ते में लटका सैंड आर्टिस्ट पटनायक का प्रोजेक्ट

कई निजी विश्वविद्यालयों ने भी पटनायक से संपर्क किया है लेकिन वह चाहते हैं कि इग्नू के मार्फत ही कोर्स शुरू हो

Bhasha Updated On: Dec 13, 2017 03:58 PM IST

0
इग्नू के इंतजार में ठंडे बस्ते में लटका सैंड आर्टिस्ट पटनायक का प्रोजेक्ट

बालू-रेत पर कलाकृतियां बनाने के फन के दम पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वाले सुदर्शन पटनायक की भारत में दुनिया का पहला सैंड आर्ट आनलाइन सर्टिफिकेट कोर्स शुरू करने की महत्वाकांक्षी परियोजना पिछले एक साल से ठंडे बस्ते में है और पिछले साल इसके ऐलान के बाद से इग्नू ने कोई कदम नहीं उठाया है.

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने पिछले साल सैंड आर्ट पर सर्टिफिकेट कोर्स को अपने व्यापक आनलाइन मुक्त पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने का ऐलान किया था. यह कोर्स पद्मश्री पटनायक ने तैयार किया है लेकिन पिछले एक साल से घोषणा के अलावा इस दिशा में कोई प्रयास नहीं किया गया.

पटनायक ने कहा, ‘दुनिया में कहीं भी सैंड आर्ट पर कोई कोर्स नहीं है और यह अपनी किस्म का अनूठा कोर्स होगा. मैं एक साल से इग्नू के जवाब का इंतजार कर रहा हूं. पिछले साल इग्नू और मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों की मौजूदगी में यह घोषणा की गई थी लेकिन उसके बाद कोई प्रयास नहीं कि गए.’ उन्होंने कहा ,‘अमेरिका, चीन, यूरोप में बसे मेरे कई सैंड आर्टिस्ट दोस्त भी इसमें रुचि ले रहे हैं. अगर कहीं और यह कोर्स शुरू हो गया तो हमारे पास कुछ नया नहीं रहेगा. कई निजी विश्वविद्यालयों ने भी मुझसे संपर्क किया है लेकिन मैं चाहता हूं कि इग्नू के मार्फत ही कोर्स शुरू हो. मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इस मामले में दखल देने की अपील करूंगा.’ भारत में अपनी तरह का अनूठा ‘गोल्डन सैंड आर्ट इंस्टीट्यूट’ चलाने वाले पटनायक 50 से अधिक अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में भारत का प्रतिनिधित्व करके 27 पुरस्कार जीत चुके हैं.

अधिकारी ने दिया अगले साल तक शुरू करने का भरोसा दिया

उन्होंने कहा, ‘मेरे पास बहुत से कलाकार ऐसे आते हैं जो पढ़े-लिखे नहीं है लेकिन सैंड आर्ट का गजब का हुनर उनके पास है. उन्हे अगर यह सर्टिफिकेट मिल जाए तो आजीविका का जरिया भी हो जाएगा.

पुरी के समुद्रतट पर अक्सर उत्सवों, सामाजिक और राजनीतिक मसलों पर सैंड आर्ट बनाने वाले पटनायक ने कोर्स के बारे में बताया कि यह एक साल का सर्टिफिकेट कोर्स होगा और इसमें ऑनलाइन प्रशिक्षण देने के बाद पुरी में प्रैक्टिकल क्लासेस होंगी. इसके ऐलान के बाद से दुनिया भर से लोगों के रुझान आए थे लेकिन अभी तक कोर्स शुरू नहीं हुआ.’ वहीं भुवनेश्वर में इग्नू के क्षेत्रीय केंद्र पर एक आला अधिकारी ने इस बारे में पूछने पर नाम छापने से इनकार करते हुए स्वीकार किया कि कोर्स शुरू करने में देर हुई है लेकिन कहा कि अगले साल फरवरी तक इसे शुरू कर दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘बीच में इग्नू के कुलपति बदल गए और हम दिल्ली से फंड का इंतजार कर रहे हैं. जल्दी ही दिल्ली से अधिकारी यहां दौरे पर आ रहे हैं और इस बारे में अगली घोषणा कर दी जाएगी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi