S M L

'फौज को दी गई आजादी की वजह से आतंक के खिलाफ मिली सफलता'

सप्ताह भर पहले लश्कर-ए-तैयबा में शामिल होने वाले कॉलेज छात्र और फुटबॉलर माजिद अर्शिद के समर्पण पर सिंह ने कहा कि बदलाव हो रहा है

Bhasha Updated On: Nov 19, 2017 06:23 PM IST

0
'फौज को दी गई आजादी की वजह से आतंक के खिलाफ मिली सफलता'

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन आईएसआईएस द्वारा कश्मीर घाटी में एक हमले को अंजाम दिए जाने के दावे की खबरों पर संज्ञान लिया है और उचित राय लेकर आगे की कार्रवाई तय की जाएगी.

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ पिछले दिनों लगातार मिली सफलता सुरक्षा बलों को करीब तीन दशक पुराने उग्रवाद का सफाया करने के लिए दी गई आजादी का परिणाम है. यह उग्रवाद अंतिम चरण में है.

अमाक समाचार एजेंसी के अनुसार सिंह से आईएसआईएस की दुष्प्रचार इकाई के माध्यम से कश्मीर में पहले आतंकी हमले के दावे के बारे में पूछा गया था.

उन्होंने कहा, 'सरकार ने जानकारी का संज्ञान लिया है और संबंधित एजेंसियां, गृह मंत्रालय और सुरक्षा एजेंसियां उचित राय ले रही हैं और उसके अनुसार आगे का कदम उठाएंगी.'

शुक्रवार को जकीउर रहमान लखवी के रिश्तेदार को किया था ढेर

श्रीनगर-गंदेरबल मार्ग पर जाकुरा क्रॉसिंग पर शुक्रवार को एक कार में सवार तीन आतंकवादियों ने एक पुलिस दल पर गोली चलाई थी जिसमें एसआई इमरान टाक की मौत हो गई और एक विशेष पुलिस अधिकारी (SPO) घायल हो गए. पुलिस ने माकूल जवाब दिया जिसमें एक वांछित स्थानीय आतंकी मारा गया. जनाजे के दौरान उसके शव को आईएसआईएस के झंडे में लपेटा गया.

मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी के रिश्तेदार समेत छह पाकिस्तानी आतंकवादियों की शुक्रवार बांदीपुरा जिले में मुठभेड़ में मौत के बारे में एक सवाल के जवाब में सिंह ने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई निर्णायक पहल का परिणाम है.

उन्होंने कहा, 'इस लगातार सफलता के पीछे की वजह सुरक्षा बलों को पेशेवर स्वतंत्रता के साथ काम करने के लिए दी गई आजादी है. यह संभवत: कश्मीर में आतंकवाद का अंतिम चरण है.'

सिंह ने कहा कि वह पिछले कई महीने से कहते आ रहे हैं कि यह राज्य में आतंकवाद का अंतिम चरण है लेकिन कुछ लोग बयान को गंभीरता से नहीं ले रहे.

उन्होंने कहा कि सदी के आखिरी 25 साल में पहली बार नई दिल्ली में कोई सरकार है जो स्पष्टता, संकल्प और निरंतरता के सिद्धांत पर काम कर रही है और सुरक्षा बलों द्वारा किए जा रहे पेशेवर कार्यों में हस्तक्षेप नहीं करती.

स्थानीय पुलिस की सराहना करते हुए सिंह ने कहा कि जिस तरह से विशेष कार्य समूह काम कर रहे हैं वह इस बात का प्रमाण है कि बिना किसी दबाव के सही अवसर दिया जाए तो बल उत्कृष्ट काम करने में सक्षम हैं.

सप्ताह भर पहले लश्कर-ए-तैयबा में शामिल होने वाले कॉलेज छात्र और फुटबॉलर माजिद अर्शिद के समर्पण पर सिंह ने कहा कि बदलाव हो रहा है. कोई डर था जो उन्हें रोककर रख रहा था.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi