S M L

छात्राओं के कपड़े उतरवाने वाली प्रिंसिपल बर्खास्त, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

प्रधानाचार्या ने जूनियर कक्षा की छात्राओं को कथित तौर पर धमकाया और मजबूरन कपड़े उतरवाए थे

Updated On: Apr 01, 2017 10:24 PM IST

Bhasha

0
छात्राओं के कपड़े उतरवाने वाली प्रिंसिपल बर्खास्त, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के एक आवासीय स्कूल की छात्राओं के कपड़े उतरवाने के आरोप में प्रधानाचार्या पर मामला दर्ज कर लिया गया है. उसे सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है.

जिला मजिस्ट्रेट डी के सिंह ने शनिवार को कहा कि आईपीसी की धारा 323 स्वेच्छा से नुकसान पहुंचाने और धारा 509 महिला का मान भंग करने के तहत प्रधानाचार्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

उन्होंने कहा कि इस मामले की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के आदेश दे दिए गए हैं. सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट रेनू सिंह जांच का नेतृत्व करेंगी.

धारा 323 और 509 के तहत मामला दर्ज

प्रधानाचार्या ने बृहस्पतिवार को जूनियर कक्षा की छात्राओं को कथित तौर पर धमकाया और मजबूरन कपड़े उतरवाए. प्रधानाचार्या कथित तौर पर माहवारी के खून के धब्बों की जांच कर रही थी.

इनमें से एक छात्रा ने कहा, ‘वहां कोई टीचर मौजूद नहीं था. हमें हॉस्टल से नीचे बुलाया गया. मैडम ने हमसे यह कहते हुए कपड़े उतरवाए कि अगर हम ऐसा नहीं करेंगे तो वह हमारी पिटाई करेंगी. हम बच्चे है, हम क्या कर सकते थे? अगर हम उनकी बात नहीं मानते तो वह हमें पीटती.’ बहरहाल, प्रधानाचार्या ने आरोपों को खारिज कर दिया है.

प्रधानाचार्या ने कहा, ‘किसी ने उनसे कपड़े उतारने के लिए नहीं कहा. यह कर्मचारियों का षड्यंत्र है क्योंकि वे नहीं चाहते कि मैं यहां रहूं. मैंने यह जांच करने के लिए कहा था कि क्या कर्मचारी अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. मैं सख्त मिजाज की हूं इसलिए वे मुझसे नफरत करते हैं.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi