S M L

आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

सूत्रों के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने एक सुसाइड नोट बरामद किया है जिसकी वह जांच कर रही है

Updated On: Jun 12, 2018 04:59 PM IST

FP Staff

0
आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

मध्य प्रदेश से चौंकाने वाली खबर सामने आई है. यहां आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है. भय्यू जी द्वारा खुद को गोली मारे जाने के बाद उन्हें इंदौर के बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. भय्यू जी के शव को पोस्ट मॉर्टम के लिए एम वाय अस्पताल ले जाया गया है. पुलिस ने भय्यू जी के घर से उनकी पिस्टल जब्त कर ली है और वह परिजनों से पूछताछ कर रही है.

पुलिस ने सुसाइड नोट और पिस्टल जब्त की

कुछ वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जांच के लिए सिल्वर स्प्रिंग्स स्थित भय्यू जी महाराज के घर भी पहुंचे. सूत्रों के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है जिसकी वह जांच कर रही है.

35114099_10216321087841228_3232829709129613312_n

आईजी पुलिस मकरंद देओस्कर ने कहा कि सुसाइड नोट और पिस्टल दोनों जब्त कर लिए गए हैं और हर पहलू की बारीकी से जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि परिजनों से भी पूछताछ की जाएगी.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक भय्यू महाराज ने मंगलवाल दोपहर को इंदौर स्थित अपने आश्रम में खुद को गोली मार ली. घटना के तुरंत बाद उनके सेवक आनन-फानन में इंदौर के बॉम्बे अस्पताल पहुंचे लेकिन वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया. पत्रिका में छपी खबर एक खबर के मुताबिक अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि जब सेवादार भय्यू महाराज को अस्पताल लेकर पहुंचे, उनकी मौत हो चकी थी.

डीआईजी हरिनारायनाचारी मिश्रा ने भय्यू जी महाराज की मौत की पृष्टि की. साथ ही भय्यू जी महाराज के साथ काम करने वाले एक व्यक्ति सुघना जाधव ने कहा कि वह बहुत डिप्रशन में थे.

हाल में मिला था राज्यमंत्री का दर्जा, भय्यू जी ने ठुकराया

गौरतलब है कि पिछले महीने ही मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने पांच संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया था जिनमें भय्यू जी महाराज का नाम भी शामिल था. हालांकि भय्यू जी ने यह पद ठुकरा दिया था.

इस पर कांग्रेस पार्टी ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि राज्य सरकार भय्यू जी पर राज्यमंत्री पद कबूल करने और उनके लिए प्रचार करने के लिए दवाब बना रही थी. कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा कि वह बहुत दवाब में थे. इसी के साथ उन्होंने भय्यू जी की मौत की सीबीआई जांच की भी मांग की.

केंद्रीय मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक ने भी जाहिर किया दुख

ट्विटर पर भी भय्यू जी के अनुयायियों ने अपना दुख प्रकट किया. उनके अनुयायियों में कई बड़ी-बड़ी शख्सियतों के नाम शामिल हैं. केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभू ने भी उनकी मौत पर दुख जाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा 'भय्यू जी की मौत की खबर सुन कर बेहद गहरा धक्का पहुंचा, उनकी आत्मा की शांती की कामना करता हूं.'

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भय्यू जी की मौत पर कहा कि 'देश ने आज एक ऐसे शख्स को खो दिया जो संस्कृति, ज्ञान और निस्वार्थ सेवा का संगम था.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi