S M L

नाबालिग से रेप: आसाराम पर फैसला कल, छावनी में तब्दील हुआ जोधपुर

आसाराम पर वर्ष 2013 में एक नाबालिग लड़की से अपने आश्रम में रेप और यौन शोषण का आरोप है. वो पिछले लगभग 5 साल से जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद है

Updated On: Apr 24, 2018 03:56 PM IST

FP Staff

0
नाबालिग से रेप: आसाराम पर फैसला कल, छावनी में तब्दील हुआ जोधपुर
Loading...

नाबालिग लड़की से रेप के आरोप में जोधपुर के सेंट्रल जेल में बंद आसाराम पर बुधवार को विशेष अदालत का फैसला आएगा. इसे देखते हुए शहर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

अदालत का फैसला यदि आसाराम के खिलाफ आता है तो उसके समर्थक हंगामा और हिंसा न करें इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए जोधपुर पुलिस हाई अलर्ट है. फैसले के दिन बड़ी संख्या में आसाराम समर्थकों के जोधपुर पहुंचने की आशंका है. इसे देखते हुए दो दिन पहले जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है.

राज्य के डीजीपी ओ पी गल्होत्रा खुद पूरे हालात पर नजर बनाए हुए हैं. कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए मंगलवार को जयपुर स्थित पुलिस मुख्यालय, अजमेर, बीकानेर से अतिरिक्त कंपनियां जोधपुर रवाना की गई हैं.

इस बीच, सूत्रों के अनुसार फैसले से पहले आसाराम ने अपने समर्थकों को चिट्ठी लिखकर उनसे जोधपुर नहीं आने को कहा है.

जोधपुर पुलिस ने किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए कोर्ट से फैसला जेल में ही सुनाने का आग्रह किया था. इसके बाद राजस्थान हाईकोर्ट ने 17 अप्रैल को जोधपुर की निचली अदालत को जेल परिसर के भीतर फैसला सुनाए जाने का आदेश दिया.

मई 2013 में यूपी के शाहजहांपुर की रहने वाली एक नाबालिग लड़की ने आसाराम बापू पर जोधपुर के बाहरी इलाके में स्थित उनके आश्रम में उसका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था. घटना के वक्त लड़की की उम्र 16 साल थी.

दिल्ली के कमला मार्केट थाने में आसाराम के खिलाफ रेप और यौन शोषण का जीरो एफआईआर दर्ज हुआ था, जहां से इसे बाद में जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया. आसाराम पर पॉक्सो और एससी/एसटी ऐक्ट के तहत कानून की धाराएं लगाई गई हैं. पुलिस ने 31 अगस्त, 2013 के दिन आसाराम को इंदौर से गिरफ्तार किया था. तब से वो जोधपुर के सेंट्रल जेल में बंद हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi